jitin amit

कांग्रेस के बड़े ब्राह्मण चेहरों में से एक जितिन प्रसाद पिछले कई दिनों से पार्टी हाईकमान से नाराज थे, वो पार्टी में तवज्जो ना मिलने और यूपी कांग्रेस के कुछ नेताओं से अपनी नाराजगी जाहिर भी कर चुके थे।

पूर्व केन्द्रीय मंत्री और दिग्गज राजनेता जितिन प्रसाद आज कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गये, वो पिछले काफी समय से नाराज बताये जा रहे थे, दरअसल जब से यूपी कांग्रेस की कमान प्रियंका गांधी वाड्रा ने संभाला है, तब से वो साइडलाइन थे, तवज्जो नहीं मिल पाने की वजह से वो नाराज थे, कई बार उन्होने अपनी नाराजगी भी जताई, लेकिन पार्टी नेतृत्व ने कुछ खास भाव नहीं किया, जिसके बाद उन्होने बीजेपी में जाने का फैसला लिया।

ब्राह्मण चेहरा
बताया जा रहा है कि कांग्रेस के बड़े ब्राह्मण चेहरों में से एक जितिन प्रसाद पिछले कई दिनों से पार्टी हाईकमान से नाराज थे, वो पार्टी में तवज्जो ना मिलने और यूपी कांग्रेस के कुछ नेताओं से अपनी नाराजगी जाहिर भी कर चुके थे, जितिन की शिकायत को भी ज्यादा भाव नहीं दिया गया, इसी वजह से उन्होने पार्टी छोड़ने का फैसला लिया।

बीजेपी ने क्यों लगाया दांव
यूपी में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं, इससे पहले बीजेपी अपने सभी सियासी समीकरण को दुरुस्त करने में जुट गई है, अंदरखाने खबर है कि बीजेपी से ब्राह्मणों का एक बड़ा तबका नाराज है, ये नाराजगी खासतौर से सीएम योगी आदित्यनाथ से है, ऐसे में बीजेपी जितिन प्रसाद को पार्टी में शामिल कराकर ब्राह्मणों को बड़ा संदेश देना चाहती है।

जातिगत समीकरण
यूपी में आज भी चुनाव प्रबंधन में जातिगत समीकरणों का खास ध्यान रखा जाता है, वैसे भी बीजेपी अगड़ों की जाति कही जाती है, हालांकि यूपी में बीजेपी को सत्ता में लाने में सभी जाति-धर्म का खास योगदान रहा है, इसी वजह से पार्टी के रणनीतिकार सभी वर्गों को ध्यान में रखकर रणनीति तैयार कर रहे हैं।

Read Also – कौन है जितिन प्रसाद, जिनके बीजेपी में शामिल होने की इतनी चर्चा हो रही है, जानिये