Delhi Election- दिल्ली मेें विधायक बना पंचर बनाने वाले का बेटा, हो रही जबरदस्त चर्चा

0
927
Loading...

दिल्ली विधानसभा चुनाव- चुनाव प्रचार के दौरान इन दोस्तों ने ना सिर्फ जिम्मेदारी संभाली, बल्कि चुनाव खर्च में भी मदद किया।

दिल्ली के जंगपुरा सीट से आम आदमी पार्टी उम्मीदवार प्रवीण कुमार देशमुख ने जीत हासिल की है, आपको बता दें कि प्रवीण मूल रुप भोपाल के रहने वाले हैं, उन्होने इस बार 16 हजार से ज्यादा वोटों से जीत हासिल की। इस विधानसभा चुनाव में प्रवीण के पारिवारिक पृष्ठभूमि की खूब चर्चा हो रही है, दरअसल प्रवीण बेहद सामान्य परिवार से ताल्लुक रखते हैं, उनके पिता आज भी भोपाल में पंचर की दुकान चलाते हैं। आइये उनके बारे में आपको बताते हैं।

प्रवीण का सियासी सफर
दरअसल प्रवीण कुमार देशमुख साल 2011 में अन्ना आंदोलन से जुड़े थे, इसके बाद जब केजरीवाल ने राजनीतिक पार्टी बनाने का ऐलान किया, तो उसमें शामिल हो गये, उन्होने साल 2008 में भोपाल के एक कॉलेज से एमबीए किया था और नौकरी के लिये दिल्ली आये था, प्रवीण के घर वालों ने कहा कि हमें कहां मालूम था कि बेटा नौकरी करने के बजाय राजनीति में उतर जाएगा और विधायक भी बन जाएगा।

लगातार दूसरी बार जीते
साल 2015 विधानसभा चुनाव में प्रवीण ने पहली बार जंगपुरा विधानसभा सीट से जीत हासिल की, वो करीब 20 हजार वोटों से जीते थे, जिसके बाद सीएम केजरीवाल ने दोबारा उन पर भरोसा जताया और इस बार भी उन्हें ही उम्मीदवार बनाया, वो इस बार 16 हजार से ज्यादा वोटों से जीते।

भोपाल में पंचर की दुकान
प्रवीण के परिवार का राजनीतिक पृष्ठभूमि नहीं है, उनके पिता पीएन देशमुख भोपाल में जिंसी चौराहा बोगदा पुल के पास टायर सुधारने और पंचर बनाने की दुकान चलाते हैं, जब पहली बार प्रवीण विधायक बने थे, तब भी पिता ने पंचर बनाने का काम नहीं छोड़ा, बेटे के मना करने पर भी उन्होने काम जारी रखा, मीडिया से बात करते हुए उन्होने कहा कि वो आगे भी अपना काम करते रहेंगे, बेटे ने कई बार काम छोड़ने के लिये कहा, लेकिन मुझे इस काम से लगाव है, इसी से सालों तक परिवार चलाता रहा हूं, और मैं इसी काम से खुश हूं, इसलिये जारी रखूंगा।

दोस्तों ने की मदद
आप नेता प्रवीण के कई दोस्त भोपाल से दिल्ली आ गये, चुनाव प्रचार के दौरान इन दोस्तों ने ना सिर्फ जिम्मेदारी संभाली, बल्कि चुनाव खर्च में भी मदद किया, जिसकी वजह से प्रवीण दोबारा विधायक बनने में सफल रहे, जीत के बाद उनके दोस्तों और परिजनों में खुशी का माहौल है।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here