20 दिन की सेवा के लिये प्रशांत किशोर की कंपनी ने जगन मोहन से लिये इतने करोड़, ऐसे हुआ खुलासा

0
134

जगन मोहन रेड्डी की पार्टी द्वारा दिये गये डिटेल से ये भी पता चला है कि चुनाव शुरु होने से पहले कंपनी के खातों में 74 लाख रुपये थे।

चुनावी रणनीतिकार और जदयू उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर की संस्था इंडियन पॉलिटिकल एक्शन कमेटी (आईपैक) को आंध्र प्रदेश के सीएम जगन मोहन रेड्डी की पार्टी वाईएसआर कांग्रेस ने चुनावी सेवाओं के लिये 37.5 करोड़ रुपये चुकाये हैं, ये खुलासा वाईएसआरसीपी की ओर से चुनाव आयोग को मुहैया कराये गये खर्चों के विवरण से हुआ है, इस साल आंध्र प्रदेश में विधानसभा चुनाव में जगन मोहन ने पीके की संस्था की सहायता ली थी।

20 दिन के 37.5 करोड़
वाईएसआर कांग्रेस ने इलेक्शन कमीशन को भेजे गये डिटेल में बताया है कि उनकी पार्टी ने आईपैक को 37 करोड़ 57 लाख 68 हजार 966 रुपये मैनेजमेंट कंसलटेंसी सर्विसेज के लिये चुकाये हैं, ये खर्च 12 मार्च 2019 से 1 अप्रैल 2019 के बीच किये गये खर्चो के लिये चुकाये गये हैं, इस तरह बीस दिन की सेवाओं के लिये वाईएसआरसीपी ने आईपैक को 37.5 करोड़ रुपये दिये हैं।

221 करोड़ का चंदा मिला
जगन मोहन रेड्डी की पार्टी द्वारा दिये गये डिटेल से ये भी पता चला है कि चुनाव शुरु होने से पहले कंपनी के खातों में 74 लाख रुपये थे, चुनाव के दौरान पार्टी को करीब 221 करोड़ रुपये बतौर चंदे में मिला, पार्टी ने चुनाव में करीब 85 करोड़ रुपये खर्च किये, चुनाव खत्म होने के बाद पार्टी के खाते में लगभग 138 करोड़ रुपये बचे थे।

चुनाव में दमदार जीत
इस साल लोकसभा और विधानसभा चुनाव में आंध्र प्रदेश में जगन मोहन की पार्टी ने शानदार जीत हासिल की, लोकसभा चुनाव में वाईएसआरसीपी ने 25 में से 22 सीटों पर परचम लहराया, जबकि 175 विधानसभा सीटों में से जगन मोहन की पार्टी ने 150 सीटें अपने नाम की।

पीके ने बनाई रणनीति
जगन मोहन के चुनावी रणनीति की जिम्मेदारी प्रशांत किशोर के पास थी, चुनाव अभियान के दौरान भी चंद्रबाबू नायडू ने पीके पर जबरदस्त हमला बोला था, हालांकि आंध्र प्रदेश की जनता ने जगन मोहन का साथ दिया, जिसकी वजह से पीके की झोली में एक और कामयाबी आ गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here