Sunday, April 18, 2021

बंगाल बीजेपी में बड़ा नाम बन चुकी है ममता बनर्जी की ये ‘बेटी’, कभी नक्सली खाते थे खौफ!

भारती घोष ममता बनर्जी की खास बन गई, हर जगह टीएमसी सुप्रीमो के साथ नजर आने लगी, ममता ने जिन-जिन हिंसाग्रस्त इलाकों में भारती को भेजा, वो वहां नक्सलियों पर काल बनकर टूट पड़ी।

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव को लेकर गहमागहमी है, राजनीतिक दलों के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल रहा है, चुनाव के साथ ही कई चेहरे भी सुर्खियों में हैं, ऐसा ही एक नाम है भारती घोष, जो बंगाल बीजेपी का बड़ा नाम हैं, एक समय आईपीएस भारती घोष मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की इतनी करीबी थी, कि उन्हें मां बुलाती थी, आइये आपको बताते हैं कि कौन है भारती घोष।

2017 में नौकरी से वीआरएस
भारती घोष आईपीएस अधिकारी रही हैं, 2017 में उन्होने वीआरएस ले लिया था, भारती को कोसोवो और बोस्निया जैसे जंग प्रभावित इलाकों में काम करने का अनुभव है, भारती ने आईपीएस बनने से पहले हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से मैनेजमेंट की पढाई की थी। 2011 में जब ममता बनर्जी प्रदेश की सीएम बनी, तो उनकी नजर भारती पर पड़ी, जिसके बाद उन्हें सीआईडी से निकालकर पश्चिमी मिदनापुर का एसपी बना दिया गया, 2008 के बाद से ही ये इलाका नक्सल गतिविधियों की वजह से अशांत था, भारती ने बड़ी दिलेरी और सूझबूझ से इलाके में शांति स्थापित की।

ममता दीदी की खास
यहीं से भारती घोष ममता बनर्जी की खास बन गई, हर जगह टीएमसी सुप्रीमो के साथ नजर आने लगी, ममता ने जिन-जिन हिंसाग्रस्त इलाकों में भारती को भेजा, वो वहां नक्सलियों पर काल बनकर टूट पड़ी, कुख्यात नक्सली नेता कोटेश्वर राव के एनकाउंटर का श्रेय भी भारती को ही दिया जाता है। आईपीएस अधिकारी पर विपक्षी दल के नेता आरोप लगाते थे, कि वो पुलिस की कम और ममता की ज्यादा सिपाही लगती हैं, उन पर सीएम के इशारे पर काम करने के कई बार आरोप लगे, चुनाव आयोग ने ट्रांसफर किये, लेकिन फिर भी ममता बनर्जी की कृपा बनी रही।

ममता को मां कहती थी
भारती घोष ममता बनर्जी को मां कहती थी, वहीं ममता बनर्जी उन्हें अच्छी बच्ची बताती थी, लेकिन 2017 में मां-बेटी के रिश्ते में दरार पड़ गई, 2014 लोकसभा चुनाव फिर 2016 विधानसभा चुनाव के बाद ममता के करीबियों ने भारती पर आरोप लगाया कि उन्होने चुनाव में बीजेपी की मदद की। जिसके बाद सीएम ने उन्हें पश्चिमी मिदनापुर के एसपी पद से हटाकर राज्य सशस्त्र पुलिस में अधिकारी बनाकर बैरकरपुर भेजने का फरमान जारी किया, भारती को ये बात इतनी नागवार गुजरी, कि उन्होने नौकरी से इस्तीफा दे दिया।

बीजेपी में शामिल
2019 लोकसभा चुनाव से ठीक पहले भारती घोष ने बीजेपी की सदस्यता ली, बीजेपी में जाने के बाद से ही भारती लगातार ममता बनर्जी पर निशाना साध रही हैं, भारती को बीजेपी ने 2019 लोकसभा चुनाव में घाटल सीट से उम्मीदवार बनाया, हालांकि वो चुनाव हार गई, इसके बावजूद वो बंगाल बीजेपी के बड़े चेहरों में गिनी जाती हैं, वो अकसर कहती हैं, कि उनके पास ममता बनर्जी से जुड़े कई राज हैं।

Read Also – प्रशांत किशोर के एक पोस्ट ने मचा दी सोशल मीडिया पर खलबली, बंगाल चुनाव को लेकर बड़ा दावा

Related Articles

- Advertisement -spot_img

Latest Articles