केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अस्पतालों और चिकित्सा शिक्षण संस्थानों को पर्याप्त मात्रा में बेड, वेंटिलेटर और ऑक्सीजन के उच्च प्रवाह वाले मास्क खरीदने का आदेश दिया है।

कोरोना वायरस के खिलाफ पूरा देश एकजुट होकर लड़ रहा है, अब मोदी सरकार ने इस जानलेवा संक्रमण से लड़ने के लिये अपनी रणनीति में बदलाव किया है, सरकार ने फैसला लिया है कि अब सभी अस्पतालों में निमोनिया मरीजों की भी कोरोना जांच की जाएगी, इसके लिये बकायदा राज्य सरकारों को आदेश जारी किया गया है, कि इसकी बिल्कुल भी अनदेखी ना करें।

आदेश जारी
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने शुक्रवार को आदेश जारी कर कहा कि निमोनिया के सभी मरीजों के बारे में एनसीडीसी या आईडीएसरी को सूचित करें, ताकि उनकी भी कोरोना जांच की जा सके, शुक्रवार को अस्पतालों को जारी किये गये सलाह में सरकार ने कहा है कि किसी भी संदिग्ध को अस्पताल से बाहर ना जाने दें, ऐसे किसी भी मरीज की सूचना तुरंत एनसीडीसी या आईडीएसपी को दें।

बेड., मास्क और वेंटिलेटर खरीदने को कहा
केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने अस्पतालों और चिकित्सा शिक्षण संस्थानों को पर्याप्त मात्रा में बेड, वेंटिलेटर और ऑक्सीजन के उच्च प्रवाह वाले मास्क खरीदने का आदेश दिया है, साथ ही सलाह देते हुए कहा है कि अपने-अपने परिसरों में सभाओं और भीड़ को इकट्ठा ना होने दें। ताकि इस संक्रमण को रोका जा सके।

गैरजरुरी को आगे बढाएं
स्वास्थ्य मंत्री के सलाह के मुताबिक जिन सर्जरी की तत्काल जरुरत नहीं है, उसे फिलहाल आगे बढा दें, साथ ही उन रोगियों की भी अस्पताल से छुट्टी कर दें, जो घर में रह सकते हैं, कुछ बेड खाली रखें, ताकि आपात स्थिति में मरीजों को भर्ती किया जा सके। आगे की पूरी तैयारी रखें, ताकि हर स्थिति से निपटा जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here