Harsh

कोरोना काल में मोदी सरकार ने प्रबंधन पर कई तरह के सवाल ख़ड़े किये गये, स्वास्थ्य मंत्रालय हर किसी के निशाने पर था, ऐसे में डॉ. हर्षवर्धन की केन्द्रीय कैबिनेट से छुट्टी हो गई है।

मोदी कैबिनेट का बुधवार शाम 6 बजे विस्तार होना है, मोदी सरकार 2.0 के इस पहले बड़े विस्तार से पहले आधा दर्जन से ज्यादा मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया है, माना जा रहा है कि पीएम मोदी जिन मंत्रियों के परफॉरमेंस से खुश नहीं हैं, उन्हें कैबिनेट से बाहर का रास्ता दिखाया गया है। इनमें सबसे बड़ा नाम केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन का है, कोरोना काल में मोदी सरकार ने प्रबंधन पर कई तरह के सवाल ख़ड़े किये गये, स्वास्थ्य मंत्रालय हर किसी के निशाने पर था, ऐसे में डॉ. हर्षवर्धन की केन्द्रीय कैबिनेट से छुट्टी हो गई है।

अब तक किन मंत्रियों की हुई छुट्टी
डॉ. हर्षवर्धन- स्वास्थ्य मंत्री
रमेश पोखरियाल निशंक (मानव संसाधन विकास मंत्री)
संतोष गंगवार (श्रम मंत्री)
देबोश्री चौधरी (महिला राज्य मंत्री)
सदानंद गौड़ा (रसायन एवं उर्वरक मंत्री)
संजय धोतरे (केन्द्रीय राज्य मंत्री)
थावरचंद गहलोत (राज्यपाल बने)
प्रताप सारंगी (राज्य मंत्री)
रतन लाल कटारिया (राज्य मंत्री)
बाबुल सुप्रियो (राज्य मंत्री)
राव साहेव दानवे पाटिल

मोदी सरकार 2.0 का पहला बड़ा बदलाव
मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का ये पहला बदलाव है, अगले साल यूपी समेत कई अहम राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं, ऐसे में केन्द्रीय कैबिनेट के जरिये उन्हें साधने की कोशिश है, इसके अलावा जातिय समीकरण, क्षेत्रीय समीकरण को भी साधने की कोशिश की जा रही है।

सहयोगियों को भी मौका
मोदी सरकार में इस बार बीजेपी के अलावा एनडीए के अन्य सहयोगियों को भी मौका दिया जा रहा है, जिसमें बिहार से जदयू, लोजपा और उत्तर प्रदेश से अपना दल को केन्द्रीय कैबिनेट में मौका मिल सकता है।

Read Also – Modi New Cabinet- 13 वकील, 6 डॉक्टर, ऐसा होगा मोदी का नया कैबिनेट