अगर देशभर में लागू हुआ NRC, तो तैयार कर लें ये डॉक्यूमेंट्स, जानिये पूरी लिस्ट

0
238

एनआरसी यानी राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर बताता है कि कौन भारतीय नागरिक है और कौन नहीं, जिन लोगों के नाम इसमें शामिल नहीं होते हैं, वो अवैध नागरिक कहलाये जाएंगे।

लोकसभा में केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि मानकर चलिये एनआरसी आने वाला है, आपको बता दें कि इस समय असम में सिर्फ एनआरसी की प्रक्रिया चल रही है, गृह मंत्री ने साफ कहा कि मोदी सरकार देश में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर लेकर जरुर आएगी, जब एनआरसी की पूरी प्रक्रिया हो जाएगी, तो देश में एक भी अवैध घुसपैठियां नहीं रह जाएगा, अब ये एनआरसी कब लागू होगा, फिलहाल तो इस बारे में कोई जानकारी नहीं है, वहीं अगर ये देशभर में लागू होता है, तो आपको अपनी नागरिकता सिद्ध करने के लिये कुछ डॉक्यूमेंट्स की जरुरत होगी।

क्या है एनआरसी
एनआरसी यानी राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर बताता है कि कौन भारतीय नागरिक है और कौन नहीं, जिन लोगों के नाम इसमें शामिल नहीं होते हैं, वो अवैध नागरिक कहलाये जाएंगे, इस हिसाब से 25 मार्च 1971 से पहले असम में रह रहे लोगों को भारतीय नागरिक माना गया है।

क्या कहा था अमित शाह ने
लोकसभा में बोलते हुए अमित शाह ने कहा कि देश में रह रहे शरणार्थियों को डरने की आवश्यकता नहीं है, शाह ने घुसपैठियों और शरणार्थियों में अंतर स्पष्ट किया, उन्होने कहा कि जो हिंदू, बौद्ध, सिख, पारसी, ईसाई और जैन पाक, बांग्लादेश या अफगानिस्तान से धार्मिक प्रताड़ना के बाद आये हैं, तो वो शरणार्थी कहलाएंगे, ऐसे लोगों को नागरिकता संशोधन के तहत भारत की नागरिकता दी जाएगी, लेकिन वो लोग जो बांग्लादेश की सीमा से भारत में घुसते हैं, चोरी-छुपे आते हैं, वो घुसपैठिये कहे जाएंगे, ऐसे लोगों को स्वीकार नहीं किया जाएगा।

इन डॉक्यूमेंट्स का होना जरुरी
अगर कोई खुद को भारत का नागरिकता सिद्ध करना चाहता है, तो उन्हें किन-किन डॉक्यूमेंट्स की जरुरत होगी, ये डॉक्यूमेंट्स 1951 से पहले के होने चाहिये, आइये आपको बताते हैं, एनआरसी लागू होने के बाद आपको 1951 से पहले का निवास प्रमाण पत्र, भूमि संबंधी कागजात और किरायेदार रिकॉर्ड, पासपोर्ट, एलआईसी पॉलिसी और एजुकेशनल सर्टिफिकेट डॉक्यूमेंट्स की जरुरत होगी, आपको एक बार फिर से बता दें कि 25 मार्च 1971 से पहले असम में रहने वाले लोग वहां के नागरिक माने जाएंगें, एनआरसी के लिये दो लिस्ट बनाई गई है, लिस्ट ए और लिस्ट बी
लिस्ट ए में जो लोग आते हैं, उन्हें अपने कागजातों को जमा करना है, वहीं लिस्ट बी में आने वाले लोगों को असम में अपने पूर्वजों से संबंधित डॉक्यूमेंट्स को जमा करने हैं। लिस्ट ए में मांगे गये मुख्य डॉक्युमेंट्स इस प्रकार हैं।

1. 25 मार्च 1971 तक इलेक्ट्रोल रोल
2. 1951 का एनआरसी
3. किरायेदारी के रिकॉर्ड
4. सिटीजनशिप सर्टिफिकेट
5. रेजिडेंट सर्टिफिकेट
6. पासपोर्ट
7. बैंक और एलआईसी डॉक्यूमेंट्स
8. परमानेंट रेजिडेंट सर्टिफिकेट
9. एजुकेशनल सर्टिफिकेट एंड कोर्ट ऑर्डर रिकॉर्ड
10. रिफ्यूजी रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट
लिस्ट बी में शामिल मुख्य डॉक्युमेंट्स
11. लैंड डॉक्यूमेंट्स
12. बोर्ड यूनिवर्सिटी सर्टिफिकेट
13. बर्थ सर्टिफिकेट
14. बैंक, पोस्ट ऑफिशियल सर्टिफिकेट
15. राशन कार्ड
16. वोटर लिस्ट में नाम
17. कानूनी रुप में स्वीकार्य अन्य डॉक्यूमेंट्स

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here