दिल्ली हिंसा से पहले कपिल मिश्रा उत्तर पूर्वी दिल्ली पहुंचे थे, वहां सीएए का विरोध कर रहे लोगों के खिलाफ भाषणबाजी की थी।

उत्तर पूर्वी दिल्ली के मौजपुर चौक पर सीएए के समर्थन में भीड़ को संबोधित करते हुए उनके भाषण पर उठे विवाद के बाद बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने फिर से मंगलवार को कहा कि सच बोलने पर उनके खिलाफ नफरत का अभियान चलाया जा रहा है, जिससे वो डरते नहीं हैं, वो कानून का समर्थन कर रहे हैं, पूर्व विधायक पर आरोप है कि उन्होने मौजपुर चौक पर सीएए के समर्थन में भाषण दिया था, जिसके बाद दोनों पक्षों में झड़पें शुरु हुई।

जान से मारने की धमकी
कपिल मिश्रा ने मंगलवार को ट्विटर पर लिखा, कि उन्हें गाली दी जा रही है, जान से मारने की धमकी जा रही है, सीएए का समर्थन करके उन्होने कोई अपराध नहीं किया है, कपिल मिश्रा ने कहा कि मुझे कई लोगों ने फोन कर जान से मारने की धमकी दी है, नेताओं और पत्रकारों समेत कई लोग मुझे गाली बक रहे हैं, लेकिन मैं डरता नहीं, क्योंकि मैंने कुछ गलत नहीं किया है।

भाषण दिया था
आपको बता दें कि दिल्ली हिंसा से पहले कपिल मिश्रा उत्तर पूर्वी दिल्ली पहुंचे थे, वहां सीएए का विरोध कर रहे लोगों के खिलाफ भाषणबाजी की थी, जिसका वीडियो भी सामने आया है, इस वीडियो में वो दिल्ली पुलिस को अल्टीमेटम देते दिख रहे हैं, उन्होने कहा कि 3 दिन में रास्ता खाली करवा दें, नहीं तो खतरनाक अंजाम होगा।

गंभीर ने की थी कार्रवाई की मांग
पूर्वी दिल्ली से भाजपा सांसद गौतम गंभीर ने मंगलवार को कहा था कि भड़काऊ भाषण देने वाले किसी भी शख्स के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिये, फिर चाहे वो किसी भी पार्टी का हो, हम दिल्ली वाले शांति से रहना चाहते हैं, लेकिन कुछ लोग जानबूझ कर साजिश रच रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here