उन्नाव पीड़िता की मौत के बाद सीएम योगी ने कही ये बात, दोषियों की खैर नहीं

0
121

सफदरजंग अस्पताल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ. सुनील गुप्ता ने शुक्रवार सुबह 11 बजे बयान जारी कर कहा था कि पीड़िता के बचने के चांसेज काफी कम हैं।

उन्नाव सामूहिक दुष्कर्म की पीड़िता आखिरकार जिंदगी की जंग हार गई, शुक्रवार देर रात दिल्ली स्थित सफदरजंग अस्पताल में पीड़िता ने आखिरी सांस ली, मौत की सूचना मिलने के बाद यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गहरा शोक व्यक्त करते हुए पीड़ित परिवार के प्रति अपनी संवेदना जाहिर की है। इसके साथ ही योगी ने कहा कि ये घटना बेहद दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है, सभी आरोपी गिरफ्तार किये जा चुके हैं, हम इस केस को फास्ट ट्रैक कोर्ट में ले जाकर आरोपियों को जल्द से जल्द कड़ी सजा दिलाने का प्रयास करेंगे।

मुझे जलाने वालों को छोड़ना मत
90 प्रतिशत से ज्यादा जल चुकी पीड़िता आखिरी वक्त तक हार नहीं मानी, गुरुवार रात 9 बजे के करीब पीड़िता को होश आया था, जिसके बाद उसने कहा था कि मुझे जलाने वालों को छोड़ना मत, इसके बाद पीड़िता नींद में चली गई, डॉक्टरों ने अपनी ओर से भरपूर कोशिश की, वेंटिलेटर पर रखा, लेकिन वो नींद से नहीं उठी, फिर दुनिया से ही विदा हो गई।

बचने के चांस कम
सफदरजंग अस्पताल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ. सुनील गुप्ता ने शुक्रवार सुबह 11 बजे बयान जारी कर कहा था कि पीड़िता के बचने के चांसेज काफी कम हैं, उनकी बिगड़ती हालात को देखते हुए उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था, बताया गया था कि कमर के नीचे के दो अंदरुनी अंगों ने काम करना बंद कर दिया था।

संक्रमण रोकने की कोशिश
इस केस में डॉक्टरों को सबसे ज्यादा डर संक्रमण फैलने का था, उनका डर भी सही साबित हुआ, पीड़िता के शरीर में तेजी से संक्रमण फैला, जिसे रोकना मुमकिन नहीं हो सका, डॉक्टरों ने इस बात की जानकारी पहले ही दी थी, कि अगर पीड़िता के शरीर में संक्रमण फैल गया, तो उस पर काबू करना आसान नहीं होगा, एक्सपर्ट्स के मुताबिक बर्न केस में ज्यादातर मरीजों की मौत संक्रमण की वजह से ही होती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here