नागरिकता बिल- इन 4 दलों पर नजर, बना या बिगाड़ सकते हैं बीजेपी का खेल, जानिये राज्यसभा का गणित

0
172
Loading...

राज्यसभा में फिलहाल सदस्यों की संख्या 239 है, यानी सभी मौजूद रहे तो बहुमत का आंकड़ा 120 होगा, जिसमें 83 सांसद बीजेपी के हैं।

लोकसभा में भारी शोर-शराबे और बहस के बीच बीती रात नागरिकता संशोधन बिल पारित हो गया, इस विधेयक में तीन पड़ोसी देशों पाक, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में धार्मिक प्रताड़ना के शिकार हिंदू, सिख, बौद्ध, पारसी, जैन और ईसाईयों को भारतीय नागरिकता प्रदान करने का प्रावधान है, विधेयक के विरोध में 80 तो समर्थन में 311 वोट पड़े, लेकिन मोदी सरकार की असली परीक्षा राज्यसभा में होगी, क्योंकि यहां एनडीए के पास बहुमत नहीं है।

एनडीए के पास बहुमत नहीं
नागरिकता संशोधन बिल को आज राज्यसभा में पेश किया जाएगा, जहां सत्ताधारी एनडीए के पास बहुमत नहीं है, लेकिन जिस तरह से अल्पमत में होने के बावजूद मोदी सरकार ने तीन तलाक और ऑर्टिकल 370 को हटाने का विधेयक पास करवा लिया था, ठीक उसी तरह इसे भी पास करवाने में लगी हुई है, आइये आपको बताते हैं राज्यसभा का पूरा गणित।

राज्यसभा का गणित
राज्यसभा में फिलहाल सदस्यों की संख्या 239 है, यानी सभी मौजूद रहे तो बहुमत का आंकड़ा 120 होगा, जिसमें 83 सांसद बीजेपी के हैं, इनके अलावा जदयू के 6, अकाली दल के 3 समेत एनडीए के कुल सांसदों की संख्या 106 है। (नोट- जदयू ने लोकसभा में बिल का समर्थन किया है, इसलिये उम्मीद है कि राज्यसभा में भी समर्थन करेगी।)

यूपीए की स्थिति
यूपीए गठबंधन में कांग्रेस के पास सबसे ज्यादा 48 सांसद हैं, वहीं लालू यादव की पार्टी राजद और एनसीपी के 4-4 सांसद हैं, इसके अलावा डीएमके और सीपीएम के 5-5 सांसद हैं, अन्य सहयोगी दलों को जोड़कर यूपीए के सांसदों की संख्या 62 है, ममता बनर्जी भी विरोध में है, तो उनके 13 सांसद भी विरोध करेंगे। साथ ही सपा के 9, बसपा के 4 और आम आदमी पार्टी के भी तीन सांसद विरोध करेंगे।

इन पर रहेगी नजर
कई पार्टियां ऐसी है, जो ना तो एनडीए में हैं और ना ही यूपीए में, तेलंगाना राष्ट्र समिति, वाईएसआर कांग्रेस, शिवसेना और बीजेडी तय करेंगे कि ये बिल पास होगा या नहीं, हालांकि शिवसेना और बीजेडी ने लोकसभा में बिल का समर्थन किया है, लेकिन राज्यसभा से पहले शिवसेना ने नई शर्त रख दी है, ऐसे में उनके रुख को लेकर भी संशय है, इन चार पार्टियों पर सबकी नजरें टिकी हुई है।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here