Friday, April 23, 2021

जदयू अध्यक्ष से बसपा-कांग्रेस विधायक की गुपचुप मुलाकात, बिहार में सियासी भूकंप!

जदयू प्रदेश अध्यक्ष के आवास पर बसपा तथा कांग्रेस नेताओं के मुलाकात के बाद वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि ये मुलाकात निजी है।

बिहार के सियासी गलियारे में खरमास में खिचड़ी पकनी शुरु हो गयी हैं, बसपा तथा कांग्रेस के विधायक जदयू के दरवाजे पर पहुंच गये हैं, बसपा के चैनपुर से एकमात्र विधायक मोहम्मद जमा खान जदयू प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण से मिलने उनके आवास पर पहुंचे, बसपा विधायक के साथ कांग्रेस विधायक मुरारी गौतम भी थे, दोनों विधायकों ने जदयू प्रदेश अध्यक्ष से करीब डेढ घंटे तक बात की, इस दौरान तीनों नेताओं में सियासी बातचीत ने ठंड में बिहार की राजनीति को गरमा दिया है।

प्रदेश अध्यक्ष के आवास पर मुलाकात
जदयू प्रदेश अध्यक्ष के आवास पर बसपा तथा कांग्रेस नेताओं के मुलाकात के बाद वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि ये मुलाकात निजी है, बसपा विधायक मोहम्मद जमा खान तथा कांग्रेस विधायक मुरारी गौतम से उनका पुराना संबंध है, ये दोनों शाहाबाद से चुनाव जीतकर आये हैं, लिहाजा ये मुलाकात निजी और सामान्य है, उन्होने कहा कि इस दौरान शाहाबाद की समस्या तथा मां मुडेश्वरी धाम के विकास पर बातचीत हुई।

धान का कटोरा
जदयू प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि शाहाबाद धान का कटोरा है, वहां सिंचाई की जरुरत है, तथा सिंचाई की समस्या पर भी बात हुई, उन्होने आगे बोलते हुए कहा कि वो मानते हैं कि सियासत में रिश्ता ऐसा हो,  कि अपनी-अपनी पार्टी के प्रतिबद्धता के साथ-साथ जन समस्याओं पर सभी दलों की राय एक हो, वहीं सपा विधायक मोहम्मद जमा खान ने कहा कि वो अपने निर्वाचन क्षेत्र की समस्या को लेकर वशिष्ठ नारायण सिंह से मिलने पहुंचे थे, ऐसा नहीं है कि वो बसपा छोड़कर जदयू में शामिल होने आये हैं।

समस्या को लेकर मुलाकात
कांग्रेस विधायक मुरारी गौतम ने भी कहा कि वो मां मुडेश्वरी धाम मंदिर की समस्या को लेकर वशिष्ठ नारायण सिंह से मिले हैं, इसमें राजनीतिक मायने नहीं निकाले जाने चाहिये, मुलाकात के समय बीजेपी विधान पार्षद संतोष सिंह, जदयू नेता अजय आलोक समेत कई अन्य लोग भी मौजूद थे।

Read Also – नीतीश के विधायक के बेटे की संदिग्ध हालत में मौत, मची खलबली!

Related Articles

- Advertisement -spot_img

Latest Articles