रात के अंधेरे में शवों को ठिकाने लगा रही ममता सरकार, बीजेपी ने वीडियो जारी कर लगाया बड़ा आरोप

0
343

बीजेपी नेता ने कहा कि कोरोना से हुई मौतों के आंकड़ों को छिपाने के लिए शवों को रात के अंधेरे में ठिकाना लगाया जा रहा है, शवों का ये अपमान है।

कोरोना संकट के बीच पश्चिम बंगाल बीजेपी के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से तीन मिनट का एक वीडियो पोस्ट किया गया है, इस वीडियो के जरिये बीजेपी दावा कर रही है, कि बंगाल में स्वास्थ्य कर्मचारी रात के अंधेरे में रिहायशी इलाकों में कोरोना से संक्रमित मरीजों के शवों को डंप करने की कोशिश कर रहे हैं, बीजेपी महासचिव और पश्चिम बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने इस तरह से शवों को डंप करना परंपरा के खिलाफ बताया है, और ममता सरकार पर सवाल खड़े किये हैं।

मौतों को छिपाने के लिये कर रहे
बीजेपी नेता ने कहा कि कोरोना से हुई मौतों के आंकड़ों को छिपाने के लिए शवों को रात के अंधेरे में ठिकाना लगाया जा रहा है, शवों का ये अपमान है, ये हमारी परंपरा के खिलाफ है, रिहायशी इलाकों में शवों के अंतिम संस्कार से संक्रमण फैलने का भी खतरा है, समझा जा सरता है कि इस समय प्रदेश की स्थिति कितनी भयावह है।

राज्यपाल ने कहा जनविरोधी
इसके साथ ही पश्चिम बंगाल के गवर्नर जगदीप धनखड़ ने सीएम ममता बनर्जी के खिलाफ तीखा हमला बोला है, उन्होने ममता सरकार पर कोविड-19 से निपटने में असफल रहने का आरोप लगाया है, उन्होने कहा कि इससे काफी दुखदायी परिणाम होंगे, साथ ही ममता बनर्जी के रवैये को भी जनविरोधी कहा ।

लोगों का ध्यान भटका रहा
गवर्नर ने कहा कि कोरोना वायरस प्रकोप से निपटने में विफल रहने पर सीएम ममता बनर्जी जानबूझ कर लोगों का ध्यान भटका रही है, अल्पसंख्यक समुदाय के तुष्टिकरण के अलावा संविधान की अवहेलना करने का काम भी कर रही हैं, ऐसे कम ही देखने को मिलता है कि कोई राज्यपाल किसी सीएम के खिलाफ इतनी सख्त भाषा का इस्तेमाल करे। राज्यपाल ने कहा कि मैं निश्चित रुप से राजभवन में निर्थक नहीं बैठ सकता, जब राज्य के लोग संकट में हो, तो मैं परेशान लोगों की गंभीर समस्या से मुंह नहीं मोड़ सकता, वास्तविक स्थिति पर पर्दा डालने की कोशिश की जा रही है।