अमित शाह ने उनकी ‘मौत’ की दुआ कर रहे ट्रोलर्स को दिया करारा जवाब, हो गई बोलती बंद

0
320

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोशल मीडिया हैंडल पर एक लंबी चौड़ी पोस्ट की है, जिसमें उन्होने अपने स्वास्थ्य को लेकर कई बातें कही है।

मोदी सरकार में नंबर दो और केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने अपने ‘शुभचिंतकों’ को करारा जवाब दिया है, उनकी तबीयत को लेकर उड़ाई जा रही अफवाहों पर उन्होने बड़ा बयान दिया है, जिससे जाहिर है कि अफवाहों से अमित शाह कितने व्यथित हुए हैं, दरअसल सोशल मीडिया पर शाह को लेकर तरह-तरह के दावे किये जा रहे थे, जिनमें उनकी गिरती सेहत की बात भी की जा रही हैं, उन्हें कैंसर होने की बात कही गई, अब खुद शाह ने इन खबरों पर चुप्पी तोड़ी है।

अमित शाह ने किया पोस्ट
अमित शाह ने सोशल मीडिया हैंडल पर एक लंबी चौड़ी पोस्ट की है, जिसमें उन्होने अपने स्वास्थ्य को लेकर कई बातें कही है, उन्होने लिखा है, कि पिछले कुछ दिनों से कुछ मित्रों ने सोशल मीडिया के जरिये मेरे स्वास्थ्य के बारे में कई मनगढंत बातें अफवाहें फैलाई है, यहां तक कि कई लोगों ने ट्वीट कर मेरी मौत तक के लिये दुआ मांगी है।

ध्यान नहीं दे पाया
मोदी के सिपहसलारा ने आगे लिखा है, देश इस समय कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहे है, देश के गृह मंत्री होने के नाते दिन –रात काम में व्यस्त होने की वजह से मैं इस पर ध्यान नहीं दे सका, ये सब मेरे संज्ञान में जब आया, तो मैंने सोचा कि ये सभी लोग अपनी काल्पनिक सोच का आनंद लेते रहें, इसलिये मैंने कोई स्पष्टता नहीं दी, लेकिन मेरी पार्टी के लाखों कार्यकर्ताओं और शुभचिंतकों ने विगत दो दिनों से काफी चिंता जाहिर की, उनकी चिंता को मैं नजरअंदाज नहीं कर सकता, इसलिये आज स्पष्ट करता हूं कि मैं पूर्ण रुप से स्वस्थ्य हूं, मुझे कोई बीमारी नहीं है। उन्होने आगे लिखा हिंदू मान्यताओं के मुताबिक ऐसा मानना है कि ऐसी अफवाहें स्वास्थ्य को और मजबूत करती है, मैं आशा करता हूं कि अब लोग इन व्यर्थ की बातों को छोड़ देंगे, मुझे मेरा कार्य करने देंगे, स्वयं भी अपना काम करेंगे, सभी शुभचिंतकों और पार्टी के कार्यकर्ताओं को मेरा आभार, जिन लोगों ने भी ये अफवाह फैलाई है, उनके प्रति मेरे मन में कोई दुर्भावना या द्वेष नहीं है।

मामले में चार गिरफ्तार
आपको बता दें कि अमित शाह के बारे में सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने के आरोप में पुलिस ने 4 लोगों को हिरासत में लिया है, जिनसे पूछताछ की जा रही है, कि आखिर क्यों उन्होने ये अफवाह फैलाना शुरु किया, जांच एजेंसियां मामले के तह तक पहुंचने में लगी हुई है।