ajit singh

रालोद नेता अजित सिंह का जन्म 12 फरवरी 1939 को मेरठ में हुआ था, वो पूर्व पीएम तथा देश के बड़े किसान नेता चौधरी चरण सिंह के बेटे थे।

राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष तथा पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लोकप्रिय जाट नेता चौधरी अजित सिंह का कोरोना संक्रमण की वजह से निधन हो गया, अजित सिंह और उनकी पोती 22 अप्रैल को कोरोना संक्रमित हुई थीं, इसके बाद से उनका इलाज गुरुग्राम के एक अस्पताल में चल रहा था, जबकि वो 4 मई से वेंटिलेटर सपोर्ट पर थे, आज सुबह उन्होने आखिरी सांस ली, हालांकि अजित सिंह की पोती की तबीयत सही बताई जा रही है, पूर्व मंत्री के निधन से राजनीतिक गलियारे में शोक की लहर है।

मेरठ में जन्म
रालोद नेता अजित सिंह का जन्म 12 फरवरी 1939 को मेरठ में हुआ था, वो पूर्व पीएम तथा देश के बड़े किसान नेता चौधरी चरण सिंह के बेटे थे, वो भारतीय राजनीति के बड़े चेहरे थे, मौजूदा समय में उनकी गिनती बड़े जाट नेताओं में होती थी, उनके निधन पर समाजवादी पार्टी तथा बीजेपी समेत तमाम राजनीतिक दलों ने शोक जताते हुए इसे भारतीय राजनीति की अपूरणीय क्षति बताया है।

सपा ने ट्वीट कर जताया शोक
सपा ने ट्वीट कर लिखा, राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष पूर्व केन्द्रीय मंत्री चौधरी अजित सिंह जी का निधन, अत्यंत दुखद आपका यूं अचानक चले जाना किसानों के संघर्ष और भारतीय राजनीति में कभी ना भरने वाले जगह छोड़ गया है, शोकाकुल परिजनों के प्रति संवेदना, दिवंगत आत्मा को शांति दे भगवान, इसके साथ ही यूपी की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने भी गहरा शोक जाहिर किया है।

पश्चिम यूपी की राजनीति की दिशा तय करते थे अजित सिंह
4 बार केन्द्रीय मंत्री रहे अजित सिंह की राजनीतिक पहुंच का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि वो कांग्रेस की नेतृत्व वाली यूपीए तथा बीजेपी की सरकार में मंत्री रहे, उन्होने अपने पिता की राजनीतिक विरासत को बखूबी आगे बढाया, वो 6 बार सांसद रहे, हालांकि 2014 और 2019 लोकसभा चुनाव में उन्हें हार का सामना करना पड़ा।

Read Also – शपथ- लगातार तीसरी बार मुख्यमंत्री बनीं ममता बनर्जी, जानिये अब तक का राजनीतिक करियर