विप्रो की ओर से ये रकम पीएम केयर्स फंड या सीएम राहत कोष में दान नहीं की जाएगी बल्कि ये पैसे खुद ही खर्च करेंगे।

कोरोना वायरस के खिलाफ पूरी दुनिया एकजुट हो रही है, अब आईटी कंपनी विप्रो के प्रमुख अजीम प्रेमजी ने भी बड़ा ऐलान किया है, उनका नाम भी दानवीरों की सूची में शामिल हो गया है, उन्होने कोरोना के खिलाफ जंग में 1125 करोड़ रुपये दान करने का ऐलान किया है, जिसमें अजीम प्रेमजी फाउंडेशन की ओर से 1 हजार करोड़ रुपये की रकम देगी, इसके साथ ही 100 करोड़ की राशि विप्रो देगी, इसके अलावा ग्रुप की एक अन्य कंपनी विप्रो इंटरप्राइजेज की ओर से 25 करोड़ रुपये दिये जाएंगे, इस तरह कुल मिलाकर इस समूह ने 1125 करोड़ रुपये डोनेट किये जाएंगे।

खुद खर्च करेंगे
हालांकि विप्रो की ओर से ये रकम पीएम केयर्स फंड या सीएम राहत कोष में दान नहीं की जाएगी बल्कि ये पैसे खुद ही खर्च करेंगे, समूह का कहना है कि ये रकम प्रभावित इलाकों में मानवीय सहायता, स्वास्थ्य सुविधाओं में बढोतरी के लिये खर्च की जाएगी, इसे अजीम प्रेमजी फाउंडेशन के 1600 कर्मचारियों की टीम बांटेगी, कंपनी ने बकायदा आधिकारिक बयान जारी कर ये जानकारी दी है।

पहले फैलाया गया था अफवाह
मालूम हो कि इससे पहले सोशल मीडिया पर एक खबर चली थी कि अजीम प्रेमजी ने कोरोना से निपटने के लिये 50 हजार करोड़ रुपये दान करने का ऐलान किया है, हालांकि ये महज अफवाह निकली, दरअसल बीते साल ही अजीम प्रेमजी ने अपने फाउंडेशन में 50 हजार करोड़ रुपये दान किये थी, उसी खबर को कोरोना के लिये दान समझकर सोशल मीडिया पर प्रसारित किया जाने लगा।

कई उद्योगपति कर चुके हैं दान
आपक बता दें कि अजीम प्रेमजी से पहले देश के कई दिग्गज कारोबारी घराने कोरोना संकट के लिये अपना खजाना खोल चुके हैं, रतन टाटा की अगुवाई वाली टाटा समूह ने 1500 करोड़ रुपये पीएम केयर्स फंड में दान किया है, इसके अलावा रिलायंस समूह ने 500 करोड़ और कई जरुरत की चीजें देने की घोषणा की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here