डब्लयूएचओ कार्यकारी निदेशक ने कोविड-19 पर प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि जहां कोरोना के मामले बढते ही जा रही है, वहां लैब्स की जरुरत है, भारत एक ज्यादा और सघन आबादी वाला देश है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्लयूएचओ) के कार्यकारी निदेशक जे रेयान ने मंगलवार को कहा कि भारत में इस संक्रमण से लड़ने की जबरदस्त क्षमता है, क्योंकि इनके पास दो महामारी स्मॉल पॉक्स और पोलियो को खत्म करने का अनुभव है, इसके साथ ही रेयान ने मोदी सरकार द्वारा लिये जा रहे फैसलों की भी तारीफ की।

भारत में जबरदस्त क्षमता
डब्लयूएचओ कार्यकारी निदेशक ने कोविड-19 पर प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि जहां कोरोना के मामले बढते ही जा रही है, वहां लैब्स की जरुरत है, भारत एक ज्यादा और सघन आबादी वाला देश है, इस वायरस से ज्यादा खतरा सघन आबादी वाले देशों को है, लेकिन भारत के पास दो महामारी चिकन पॉक्स और पोलियो से लड़ने का अनुभव है, भारत में इस लड़ाई से जीतने का अनुभव है।\

दुनिया को रास्ता दिखा रहे
जे रेयान ने आगे बोलते हुए कहा कि कोई आसान जवाब नहीं है, ये महत्वपूर्ण है, कि भारत जैसे देश दुनिया को रास्ता दिखा रहे हैं, जैसे उन्होने पहले भी किया है, विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार दुनियाभर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 3.30 लाख पार हो गई है, जबकि मौतों की संख्या 14 हजार से ज्यादा हो चुकी है।

भारत में 471 मामले
मालूम हो कि भारत में अब तक कोरोना वायरस के 471 मामले सामने आ चुके हैं, जिसमें से 9 लोगों की मौत हो चुकी है, संक्रमण को देखते हुए तीस राज्यों और केन्द्रशासित प्रदेशों ने लॉकडाउन का फैसला लिया है, लोगों से अपने घरों में ही रहने की अपील की गई है, सख्ती से लॉकडाउन का पालन करवाया जा रहा है।

पीएम ने भी लोगों से की खास अपील
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मी ने राज्य सरकारों से अपील की है, कि कोरोना वायरस के मद्देनजर लॉकडाउन का सख्ती से पालन किया जाए, जो लोग इसे गंभीरता से नहीं ले रहे हैं, उनके खिलाफ एक्शन लिया जाए, उन्होने ट्विटर पर लिखा, लॉकडाउन को जो लोग अभी भी गंभीरता से नहीं ले रहे, कृपया करके अपने आपको बचाएं, अपने परिवार को बचाएं, निर्देशों का गंभीरता से पालन करें, राज्य सरकारों से मेरा अनुरोध है कि वो नियमों और कानूनों का पालन करवाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here