new army chief

अगर वरिष्ठता को ही पैमाना माना जाए, तो फिर थल सेना अध्यक्ष मनोज मुकुंद नरवणे का नाम सबसे आगे है।

सीडीएस बिपिन रावत के असामायिक निधन के बाद उनके उत्तराधिकारी की खोज की जा रही है। चीन-पाक तथा अंदरुनी शत्रुओं से जूझ रहे देश को जल्द ही नये सीडीएस की तलाश करनी होगी, वरिष्ठता के लिहाज से थल सेना अध्यक्ष मनोज मुकुंद नरवणे का नाम सबसे आगे माना जा रहा है, आमतौर पर सेना के तीनों अंगों के प्रमुख के चयन की परिपाटी स्पष्ट है, लेकिन सीडीएस जैसे पहले सर्वोच्च पद के लिये मोदी सरकार को सधे कदमों से ही आगे बढना होगा।

नरवणे सबसे आगे
अगर वरिष्ठता को ही पैमाना माना जाए, तो फिर थल सेना अध्यक्ष मनोज मुकुंद नरवणे का नाम सबसे आगे है, वायु सेना चीफ मार्शल विवेक राम चौधरी तथा नौसेना चीफ एडमिरल आर हरिकुमार दोनों ही वरिष्ठता के लिहाज से नरवणे से दो साल जूनियर हैं।

अगला थल सेनाध्यक्ष कौन
हालांकि अगर जनरल नरवणे को सीडीएस की अहम जिम्मेदारी सौंपी जाती है, तो फिर मोदी सरकार को तुरंत ही नये थल सेनाध्यक्ष का भी चयन करना होगा, थल सेना के उप प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल सीपी मोहंती और नॉदर्न आर्मी कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल वायके जोशी थलसेनाध्यक्ष नरवणे के बाद थल सेना में दूसरे नंबर पर हैं, इन दोनों में से किसी एक को कमान मिल सकती है।

4 स्टार जनरल होना जरुरी
सीडीएस बनने के लिये 4 स्टार जनरल होना जरुरी है, जो तीनों सेनाओं के प्रमुख होते हैं, ऐसे में जो अदिकारी 4 स्टार जनरल बनने के योग्य हो चुका है, उसकी नियुक्ति पर भी विचार किया जा सकता है, ऐसे में सरकार के लिये ये बाध्यता नहीं है कि वो तीनों सेना प्रमुखों में से ही किसी एक को बनाये, उनके पीछे के रैंक में जो 4 स्टार जनरल बनने के योग्य हैं, उनके नाम पर भी विचार हो सकता है। इस लिहाज से उप सीडीएस के रुप में काम कर रहे एयर मार्शल बीआर कृष्णा भी दौड़ में माने जा रहे हैं।

Read Also – हादसे के बाद भी जिंदा थे बिपिन रावत, बताया था अपना नाम, बचावकर्मी ने बताई पूरी बात