vaisnao (1)

घायलों को रेस्क्यू कर नारायणा अस्पताल में भर्ती कराया गया है, उन्होने बताया कि मृतकों में 1 शख्स जम्मू-कश्मीर का है, बाकी दिल्ली, हरियाणा और पंजाब के हैं।

कटरा के चर्चित माता वैष्णो देवी मंदिर में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ के कारण मची भगदड़ में 12 लोगों की मौत हो गई है, 13 घायल बताये जा रहे हैं, इस घटना में मारे गये लोग 4 अलग-अलग राज्यों के हैं, एएनआई के मुताबिक सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर प्रखंड चिकित्सा अधिकारी गोपाल दत्त ने कहा कि वैष्णो देवी मंदिर में भगदड़ से 12 लोगों की मौत हुई है, मृतकों में दिल्ली, हरियाणा, पंजाब और जम्मू-कश्मीर के लोग हैं, घायलों को रेस्क्यू कर नारायणा अस्पताल में भर्ती कराया गया है, उन्होने बताया कि मृतकों में 1 शख्स जम्मू-कश्मीर का है, बाकी दिल्ली, हरियाणा और पंजाब के हैं।

मंदिर में भगदड़
अधिकारियों ने बताया कि भगदड़ त्रिकुटा पहाड़ियों के ऊपर स्थित मंदिर के गर्भगृह के बाहर गेट नंबर तीन के पास हुई, अधिकारियों ने बताया कि  नये साल के शुरुआत के मौके पर श्रद्धासुमन अर्पित करने पहुंचे लोगों में धक्कामुक्की हो गई, जिससे भगदड़ मच गई, वरिष्ठ अधिकारी तथा धर्मस्थल बोर्ड के प्रतिनिधि मौके पर हैं।

चश्मदीद ने बताया
घटना के दौरान मौजूद चश्मदीदों में से एक ने बताया कि माता वैष्णो देवी भवन मार्ग पर काफी भीड़ थी, इस भीड़ क देखकर ही घबराहट हो रही थी, लोगों ने कहा कि इसमें प्रशासन की गलती है, कि जब भीड़ थी तो लोगों को रोका क्यों नहीं गया, लोग चलते जा रहे थे, लुधियाना से गये एक भक्त भी उस दौरान मौके पर मौजूद थे, उन्होने कहा कि दर्शन के लिये इतनी पर्ची क्यों काटी गई, अधिक पर्ची क्यों काटी गई, जिसकी वज से भगदड़ हुई है, उन्होने बताया कि उन्होने तो खंभे पर चढकर अपनी जान बचाई है।

मुआवजा ऐलान
वहीं हादसे के बाद कुछ देर के लिये माता के दर्शन को रोक दिया गया था, फिर हालात सामान्य होने के बाद यात्रा शुरु कर दी गई, कटरा में यात्री पर्ची भी बननी शुरु हो गई है, जम्मू-कश्मीर के एलजी ने ये जानकारी दी है, कि माता वैष्णो देवी भवन में भगदड़ में मारे गये लोगों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये और घायलों के लिये 2-2 लाख रुपये मुआवजा दिया जाएगा।

Read Also – गलतफहमी में जी रहे राहुल गांधी, मोदी के बाद भी दशकों तक रहेगी बीजेपी, पीके का बड़ा बयान