तिवारी नाम का शख्स कर रहा था विकास दुबे की मदद, एसटीएफ के निशाने पर मोस्ट वांटेड के ‘मददगार’!

0
347
vikas 56

महाकाल मंदिर में तैनात होमगार्ड ने इस बात की सूचना पुलिस को दी, बताया जा रहा है कि विकास ने शातिराना अंदाज में खुद को गिरफ्तार करवाया।

कानपुर देहात में 8 पुलिस वालों पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर फरार चल रहे 5 लाख का ईनामी बदमाश विकास दूबे सातवें दिन पुलिस की गिरफ्त में आ गया है, महाकाल मंदिर में उसने बड़े ही शातिराना अंदाज में गिरफ्तारी दी, या भी यूं भी कह सकते हैं कि उसने सरेंडर किया, क्योंकि वो खुद ही लोगों के बीच चिल्ला रहा था मैं हूं विकास दूबे कानपुर वाला, जिसके बाद गार्ड ने तुरंत पुलिस को सूचना दे दी।

शाम तक लखनऊ
यूपी के मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी के अनुसार एमपी के उज्जैन में पुलिस की देर रात से ही विकास पर नजर थी, महाकाल मंदिर के आस-पास उसने शरण ले रखी थी, vikas 57 आज सुबह पुजारी की जानकारी के बाद पुलिस ने वहां से विकास को अपने हिरासत में ले लिया, विकास को लखनऊ लाया जा रहा है, इसके लिये पुलिस की 5 टीमें उज्जैन पहुंच चुकी है, शाम तक वो लखनऊ आ सकता है।

तिवारी नाम का शख्स कर रहा था मदद
सूत्रों का दावा है कि तिवारी नाम का शख्स विकास दुबे की मदद कर रहा थी, उसी की मदद से विकास महाकाल के शरण तक पहुंचा, उसने बड़े ही शातिराना अंदाज में खुद को पकड़वाया, Vikas Ujjain क्योंकि उसे डर था कि जैसे पुलिस वाले उसके गुर्गों को एनकाउंटर में मार रहे हैं, वैसे ही उसका भी एनकाउंटर कर देंगे।

होमगार्ड को मिलेगा इनामी राशि
महाकाल मंदिर में तैनात होमगार्ड ने इस बात की सूचना पुलिस को दी, बताया जा रहा है कि विकास ने शातिराना अंदाज में खुद को गिरफ्तार करवाया, विकास पर 5 लाख का ईनाम था, कहा जा रहा है कि अब ये इनामी राशि होमगार्ड के जवान को दी जाएगी।

Read Also – विकास दुबे पर कुमार विश्वास ने तोड़ी चुप्पी, पिछली सरकारों को भी लपेटा