राम जन्मभूमि- बेहद हाइटेक है निमंत्रण पत्र, जानिये क्या-क्या है खूबियां, और किस-किस का है नाम

0
96
Invitaion

राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने जानकारी दी, कि भूमि पूजन कार्यक्रम में कुल 175 आमंत्रित अतिथि ही शामिल होंगे, 135 विशिष्ट साधु-संतों के अलावा अन्य अतिथियों को आमंत्रित किया गया है।

राम मंदिर निर्माण के लिये भूमि पूजन की घड़ी धीरे-धीरे नजदीक आती जा रही है, 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शिलान्यास के साथ ही निर्माण कार्य शुरु हो जाएगा, इस ऐतिहासिक क्षण के साक्षी बनने के लिये लाखों भक्त अयोध्या पहुंचना चाहते हैं, लेकिन कोरोना संक्रमण की वजह से ऐसा संभव नहीं हो पा रहा है, श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने भूमि पूजन के लिये 175 लोगों को निमंत्रण पत्र भेजा है, इसके अलावा 135 विशिष्ट साधु-संतों के अलावा कुछ अन्य अतिथियों को निमंत्रित किया गया है, निमंत्रण पत्र में सुरक्षा कोड के साथ से हाइटेक बनाया गया है।

175 आमंत्रित अतिथि
राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने जानकारी दी, कि भूमि पूजन कार्यक्रम में कुल 175 आमंत्रित अतिथि ही शामिल होंगे, 135 विशिष्ट साधु-संतों के अलावा अन्य अतिथियों को आमंत्रित किया गया है, उन्होने कहा कि आमंत्रण पत्र में प्रवेश पास भी है, जिस पर सुरक्षा के लिये बार कोड का इस्तेमाल किया गया है, ये एक बार ही उपयोग में आएगा, यानी अगर कोई एक बार बाहर निकला, तो फिर दोबारा प्रवेश नहीं कर पाएगा, आमंत्रित अतिथि कार्यक्रम में मोबाइल या कैमरा लेकर नहीं जा सकेंगे।

पीएम के आगमन से 2 घंटे पहले तक ही एंट्री
आमंत्रित अतिथियों को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आगमन से दो घंटे पहले तक ही प्रवेश करना होगा, उसके बाद एंट्री बंद हो जाएगी, वैसे तो सभी आमंत्रित अतिथि को मंगलवार शाम तक ही अयोध्या पहुंचना होगा, क्योंकि सुरक्षा के लिहाज से शहर की सभी सीमाएं बंद कर दी जाएगी।

निमंत्रण पत्र पर नाम
इस निमंत्रण पत्र में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ ही विशिष्ट अतिथि के तौर पर आरएसएस के संघचालक मोहन भागवत का भी नाम शामिल है, इसके अलावा गरिमामयी उपस्थिति के तौर पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और सीएम योगी का नाम है, निवेदक के रुप में ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास का नाम लिखा है।

Read Also – अयोध्या केस वाले इकबाल अंसारी की मुसलमानों से अपील, नागरिकता कानून को समझें, अफवाहों में ना आएं