Narendra giri2

महंत नरेन्द्र गिरि केस में पुलिस ने उनके शिष्य योगगुरु आनंद गिरि, लेटे हुए हनुमान मंदिर के पुजारी आद्या तिवारी और उनके बेटे संदीप तिवारी को गिरफ्तार कर लिया है।

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरि का संदिग्ध परिस्थितियों में निधन हो गया है, प्रयागराज के बाघमबरी मठ में उनका शव फंदे से लटका मिला है, महंत नरेन्द्र गिरि केस में पुलिस ने उनके शिष्य योगगुरु आनंद गिरि, लेटे हुए हनुमान मंदिर के पुजारी आद्या तिवारी और उनके बेटे संदीप तिवारी को गिरफ्तार कर लिया है।

डीआईजी से विवाद
साल 2004 में मठ बाघंबरी गद्दी के महंत बनने के बाद नरेन्द्र गिरि का सबसे पहला बड़ा विवाद तत्कालीन डीआईजी आरएन सिंह से हुआ था, जमीन बेचने को लेकर ये विवाद था, जिसके बाद डीआईजी ने मंदिर के सामने कई दिनों तक धरना दिया, तत्कालीन सीएम मुलायम सिंह यादव ने आरएन सिंह को सस्पेंड किया, तब जाकर मामला शांत हुआ था।

आय से अधिक संपत्ति का मामला
महंत स्वामी नरेन्द्र गिरि के गनर रह चुके कांस्टेबल अजय सिंह पर आय से अधिक संपत्ति के आरोप लगे, इस सिपाही के रहन-सहन और ठाठ-बाट पर सवाल उठाते हुए नूतन ठाकुर ने डीजीपी समेत अन्य अधिकारियों को लेटर भेजकर जांच कराने की मांग की थी, 61 लाख रुपये के फ्लैट पत्नी के नाम खरीदने की बात कही थी।

इन विवाद में भी नाम
नोएडा में दिल्ली-एनसीआर के सबसे बड़े डिस्को के साथ ही बीयर बार के संचालक सचिन दत्ता उर्फ सच्चिदानंद गिरि को 31 जुलाई 2015 को महामंडलेश्वर बनाने के विवाद में भी नरेन्द्र गिरि का नाम आया था, बाघंबरी गद्दी में तत्कालीन मंत्री शिवपाल यादव और ओपी सिंह की मौजूदगी में नरेन्द्र गिरि ने सचिन का पट्टाभिषेक कर निरंजनी अखाड़े का महामंडलेश्वर बनाया था।

केस हुआ था दर्ज
नरेन्द्र गिरि का विवाद 2012 में सपा नेता और हंडिया से विधायक रहे महेश नारायण सिंह से जमीन की खरीद-बिक्री को लेकर भी हुआ था, फरवरी 2012 में महंत ने सपा नेता महेश नारायण सिंह, शैलेन्द्र सिंह, हरिनारायण सिंह, और 50 अज्ञात के खिलाफ जार्ज टाउन में मुकदमा दर्ज कराया था, दूसरे पक्ष ने भी नरेन्द्र गिरि, आनंद गिरि और दो अन्य के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करायी थी।

किन्नर अखाड़ा
नरेन्द्र गिरि किन्नर अखाड़े को मान्यता नहीं देते थे, उनका कहना था कि जगतगुरु शंकराचार्य ने 13 अखाड़ों की स्थापना की थी, किसी को भी 14वें अखाड़े के रुप में मान्यता नहीं दी जा सकती, हालांकि 2019 के कुंभ में मेला प्रशासन ने किन्नर अखाड़े को जमीन तथा सुविधाएं दी थी।

Read Also – पहले तीन तलाक, फिर दोस्त को लेकर पत्नी के पास हलाला के लिये पहुंचा ओवैसी की पार्टी का नेता