kota

मामला कोटा के कुन्हाड़ी थाना इलाके का है, जहां रवि काली नाम के एक युवक की शादी नहीं हो रही थी, तो उसके किसी रिश्तेदार ने बताया कि देवराज नाम का शख्स उसकी शादी करवा देगा।

राजस्थान के कोटा में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है, यहां एक शख्स चंद पैसों के लालच में भाई बनकर अपनी ही पत्नी की शादी किसी गैर शख्स से करवा दी, पीड़ित ने महिला, उसके पति और दलाल के खिलाफ थाने में केस दर्ज करवा दिया, जिसके बाद पुलिस ने आरोपियों को धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार कर लिया।

युवक की शादी नहीं हो रही थी
मामला कोटा के कुन्हाड़ी थाना इलाके का है, जहां रवि काली नाम के एक युवक की शादी नहीं हो रही थी, तो उसके किसी रिश्तेदार ने बताया कि देवराज नाम का शख्स उसकी शादी करवा देगा। इसके बाद रवि देवराज से मिला, शादी की बात की, तो उसने बताया कि उसके सगे-संबंधी इंदौर में रहते हैं, जहां वो उसकी शादी करवा देगा, हालांकि इसके लिये देवराज ने 1.80 लाख रुपये की मांग की, जिसके लिये रवि तैयार हो गया।

कोर्ट में शादी
इसके बाद देवराज ने इंदौर में रवि की शादी कोमल नाम की एक युवती से कोर्ट में करवा दी, बदले में 1.80 लाख रुपये ले लिये, शादी के बाद रवि अपनी पत्नी को लेकर घर आ गया, रवि की पत्नी कोमल ने दो दिनों बाद अपने भाई सोनू से मिलने की इच्छा जताई, तो पति ने उसे बुला लिया। रवि के घर पहुंचते ही कोमल को देख सोनू ने बताया कि ये उसकी पत्नी है, और वो पहले से शादीशुदा है, इतना ही नहीं उसने ये भी कहा कि वो उसके बच्चों की मां भी है, ये सुनकर रवि के पैरों तले जमीन खिसक गई, उसे अपने साथ हुई ठगी का एहसास हो गया।

थाने पहुंचा
रवि ने थाने जाकर दलाल देवराज अपनी पत्नी कोमल और उसके कथित भाई सोनू के खिलाफ शिकायत दर्ज करवा दी, जब पुलिस ने मामले की पड़ताल की, तो सच्चाई जान रवि भी हैरान रह गया, दरअसल जिस सोनू को वो अपनी पत्नी का भाई समझ रहा था, असल में वो कोमल का पति निकला। पुलिस जांच में सामने आया कि दलाल देवराज ने कोमल और सोनू के साथ मिलकर रवि को ठगने का प्लान बनाया था, यही वजह है कि कोमल के पति को ही उसका भाई बनाकर उससे रवि की शादी करवा दी और पैसे ले लिये। तीनों आरोपियों को धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

Read Also – वीडियो- शादी के बीच दुल्हन के साथ ऐसी हरकत कर रहा था दूल्हा, पंडित ने कहा हाथ हटाओ