lucknow

लखनऊ के थाना हजरतगंज इलाके में एक पीड़ित शख्स ने पुलिस को सूचना दी थी, कि 2 महिला और 3 पुलिस वाले मिलकर उसे ब्लैकमेल कर रहे हैं।

लखनऊ पुलिस ने हनी ट्रैप के जाल में लोगों को फंसाने तथा ब्लैकमेल कर पैसे ऐंठने वाले एक गिरोह के 5 लोगों का पर्दाफाश किया है, जिसमें 3 पुरुष और 2 महिलाएं शामिल है, तीनों पुरुषों ने पुलिस की वर्दी पहन रखी थी, वो लोगों को डरा-धमका कर पैसे ऐँठ रहे थे, पुलिस ने पांचों आरोपियों को गिरफ्तार कर आगे की कार्रवाई शुरु कर दी है।

5 गिरफ्तार
जानकारी के अनुसार लखनऊ के थाना हजरतगंज इलाके में एक पीड़ित शख्स ने पुलिस को सूचना दी थी, कि 2 महिला और 3 पुलिस वाले मिलकर उसे ब्लैकमेल कर रहे हैं, उसका अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर पैसे मांग रहे हैं, जिसकी वजह से वो मानसिक रुप से पूरी तरह से परेशान हो चुका है, इस परेशानी से जल्द से जल्द निकलना चाहता है, नहीं तो उसके सामने सुसाइड के अलावा कोई दूसरा रास्ता नहीं है।

शिकायत को गंभीरता से लिया
लखनऊ पुलिस टीम ने पीड़ित की शिकायत को गंभीरता से लिया, तथा सर्विलांस की एक टीम को मामले की जांच में लगाया, इस दौरान पीड़ित शख्स ने पुलिस को सूचना दी, कि दो महिलाऐएं और तीन पुलिस वाले कानपुर रोड के पास गाड़ी में उससे पैसे लेने आये हैं, पुलिस ने एक टीम बनाई और सर्विलांस की मदद से पीड़ित के साथ मौके पर पहुंच गई, मौके पर 3 आरोपी पुलिस वर्दी में थे, उनके साथ दो महिलाएं भी थी, पुलिस ने पांचों को हिरासत में लिया और थाने ले गई, पूछताछ में उन्होने अपनी पहचान पंकज गुप्ता, अतुल सक्सेना और अजीजुल हसन सिद्दकी के रुप में हुई, इनके साथ दो महिलाएं भी पकड़ी गई, जिनका काम शिकार को फांसना था।

सोशल मीडिया का इस्तेमाल
पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर के अनुसार ये गिरोह पेशेवर तरीके से सोशल मीडिया साइट पर अपने आस-पास के लोगों को पहचान कर मोबाइल से मीठी-मीठी बातें करते थे, जिसके बाद जाल में फंसाकर पहले से निर्धारित स्थान पर बुलाते थे, जैसे ही कोई शख्स उनके चंगुल में फंसता, तो दोनों महिलाएं आने वाले व्यक्ति से अश्लील बातें कर उनके कपड़े उतरवा लेती थी, शारीरिक संबंध बनाते समय ही 3 पुलिस वाले वर्दी में पहुंच जाते थे, फिर उन्हें वीडियो दिखाकर ब्लैकमेल करते थे, इस गिरोह द्वारा बनाये गये वीडियो के माध्यम से कई बार पैसे वसूले जाते थे, मना करने पर वीडियो वायरल करने तथा मुकदमा लिखने की धमकी देते थे। अब इन पांचों के खिलाफ आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

Read Also – ABP News सर्वे- यूपी में फिर से योगी सरकार, जानिये किसको मिलेगी कितनी सीटें?