Friday, April 23, 2021

शानदार खबर, सोए हुए सिस्टम को पहाड़ी युवाओं ने दिखाया आईना, खुद ही किया 1.5 किमी सड़क का निर्माण

जब पूरा विश्व कोरोना महामारी से जूझ रहा था तब हमारे उत्तराखंड (uttrakhand) के भाईयों और बहनों ने एक ऐसा काम कर डाला जिसकी चर्चा अब पूरे प्रदेश में है. जी हां, इन ग्रामीणों ने एक ऐसी मिसाल पेश की है जिसकी जितनी तारीफ की जाए उतनी कम है. वैसे तो देवभूमि के लोग कर्मों पर ही विश्वास रखते हैं और इनकी मदद खुद भगवान करते हैं. हम जिन लोगों की बात कर रहे हैं वो पौड़ी गढ़वाल जिले के तहसील लैंसडाउन के जयहरीखाल ब्लॉक के मठाली गांव (maithali) के रहने वाले हैं. ये बात तो हम सभी जानते हैं कि, उत्तराखंड में सुख-सुविधाओं का काफी अभाव है. शहरों तक आने के लिए भी कई लोगों को कच्ची सड़कों और बड़े-बड़े पहाड़ों को पार करना पड़ता है.

ग्रामीणों ने पेश की मिसाल
मठाली गांव के पहाड़ियों ने सरकार की लाचार व्यवस्था को आइना दिखाते हुए विषम परिस्थितियों में भी बिना प्रशासन की मदद के सड़क का निर्माण किया है. इस सुंदर काम के लिए ग्रामीणों की जितनी भी तारीफ की जाए उतनी कम होगी.Villagers road construction jaiharikhal maithaliक्योंकि, जिस सड़क को सालों से प्रशासन और सरकार नहीं बना पाई उसी 1.5 किलोमीटर सड़क को महज 10 से 15 दिनों में गांव वालों ने बनाकर तैयार कर दिया.

प्रशासन ने नकारा तो ग्रामीणों ने उठाया बीड़ा
ग्रामीणों और प्रवासियों ने बताया कि, कई बार सरकार और अधिकारियों को फोन, पत्राचार और मेल के माध्यम से गुहार लगाई गई. लेकिन किसी ने नहीं सुनी इस वजह से उन्होंने खुद ही सड़क उठाने का बीड़ा बनाया. वैसे तो साल 2017 में विधायक जी ने इसी रोड का शिलान्यास किया था लेकिन 500 मीटर सड़क बनने के बाद काम रुक गया. इसके बाद जब भी ग्रामीणों ने आवाज उठाई हमेशा उनकी आवाज को अनसुना कर दिया गया.

खुशी से झूमते नजर आए लोग
जब लोगों ने प्रशासन के रुखे व्यवहार को देखा तो सोचा कि, जब पूरा विश्व कोरोना महामारी से जूझ रहा है तो क्यों न इस संकट की स्थिति को अवसर में तब्दील किया जाए और बना दी जाए सड़क. सड़क निर्माण के लिए पूरा गांव एक हुआ और सड़क निर्माण पर आने वाले खर्च को खुद ही वहन किया. जब 15 जून 2020 की जेसीबी काम शुरू करने के लिए गांव पहुंची तो गांव वालों भी बढ़-चढ़कर मदद करने पहुंच गए और जब सड़क बनकर तैयार हुई तो वाकई जश्न का माहौल नजर आया लोग खुशी से झूमते नजर आए.

वाह उत्तराखंड! प्रशासन ने नहीं सुनी तो अपने पैसों से ही गांव वालों ने बना दी सड़क

Posted by Arti kumari on Friday, 3 July 2020

युवा शक्ति की हुई जीत
सड़क निर्माण के विचार पर गांव के ही एक युवाओं ने खुशी जताते हुए कहा कि, अपनी आंखों के सामने हमने उस सपने को हकीकत में बदला है जो प्रशासन नहीं कर पाया. ग्रामीणों ने कहा कि, चुनावी समय में जो लोग सिर्फ वोट के लिए जनता को देखते हैं उन्हें हमनें इस काम के माध्यम से आइना दिखाया है.Villagers road construction jaiharikhal maithali 3 जो समझते हैं कि, जनता सिर्फ उन्हीं पर आश्रित है. फिलहाल इस सड़क निर्माण होने से पूरे गांव में खुशी का माहौल है और लोगों ने भी राहत की सांस ली है.

ये भी पढ़ेंः- अब देवभूमि में नहीं होगा पलायन! सरकार का बच्चों की शिक्षा के लिए बड़ा ऐलान, अभिभावकों को जगी उम्मीद

Related Articles

- Advertisement -spot_img

Latest Articles