trupati

पति-पत्नी तिरुपति में अपनी 18 महीने की बच्ची के साथ रहते थे, कोविड महामारी के कारण भुवनेश्वरी ऑफिस का काम घर से कर रही थी, वहीं उनका पति श्रीकांत रेड्डी इंजीनियर था।

आंध्र प्रदेश के तिरुपति में सूटकेस में मिली जली हुई लाश की पहचान पुलिस ने कर ली है, पुलिस के अनुसार ये शव हैदराबाद में एक नामी आईटी कंपनी में काम करने वाली 27 वर्षीय महिला का है, पुलिस के अनुसार महिला का नाम भुवनेश्वरी है, वो पिछले कई दिनों से लापता थी, उसके पति मरमरेड्डी श्रीकांत रेड्डी का दावा है कि वो कोरोना संक्रमण से मरी है, हालांकि अब उसका पति ही हत्या का आरोपित है।

क्या है मामला
जानकारी के मुताबिक ये पति-पत्नी तिरुपति में अपनी 18 महीने की बच्ची के साथ रहते थे, कोविड महामारी के कारण भुवनेश्वरी ऑफिस का काम घर से कर रही थी, वहीं उनका पति श्रीकांत रेड्डी इंजीनियर था, वो एक ऑनलाइन संगठन से जुड़ा था, जो भ्रष्टाचार के खिलाफ जंग लड़ता है, फिलहाल वो पिछले कुछ महीनों से बेरोजगार है।

सूटकेस ले जाते दिखा
तिरुपति शहरी क्षेत्र के पुलिस प्रमुख रमेश रेड्डी ने इस बात की जानकारी दी है, कि श्रीकांत को उसके अपार्टमेंट परिसर में एक बड़े सूटकेस के साथ जाते देखा गया, इसके बाद उसे वहां से उसी सूटकेस के साथ निकलते भी देखा गया, उनके मुताबिक श्रीकांत ने पत्नी को मारकर जला डाला, फिर शव को सूटकेस में भरकर सुनसान जगह पर फेंक दिया, ये शव 96 फीसदी जल चुका था, पुलिस का कहना है कि श्रीकांत ने शव को ठिकाने लगाने के मकसद से ही इतना बड़ा सूटकेस खरीदा था।

पुलिस कर रही जांच
पुलिस ने मामले की जांच को आगे बढाते हुए सैंपल को फॉरेंसिक में भेजा है, पुलिस का कहना है कि भुवनेश्वरी के शरीर के सभी हिस्से जल गये हैं, लेकिन कुछ हड्डियां और खोपड़ी बची है, वहीं श्रीकांत ने पत्नी के बारे में रिश्तेदारों को बताया कि कोरोना की वजह से उनका निधन हो चुका है, इसके बाद रिश्तेदारों ने इसे खोजने के लिये कई अस्पतालों के चक्कर लगाये थे।

Read Also – चंद रुपयों के खातिर पति ने भाई बनकर करवा दी अपनी ही पत्नी की शादी