भारत-म्यामांर सीमा पर बड़ा उग्रवादी हमला, 3 जवान शहीद, 4 घायल

0
78
manipur

अलगाववादी संगठन चीन से नियमित रुप से वित्तिय सहायता और हथियार प्राप्त कर रहे हैं, जिससे उसे उत्तर-पूर्व में अपने नेटवर्क को बनाये रखने में मदद मिलती है।

भारत-म्यांमार बॉर्डर पर तलाशी अभियान में जुटे असम रायफल्स की टीम पर पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने हमला किया है, जिसमें तीन जवानों के शहीद होने की खबर है, इसके साथ ही 4 जवान घायल हो गये हैं, उग्रवादियों ने अचानक असम रायफल्स की टीम पर हमला कर दिया, फिलहाल उस इलाके में तलाशी अभियान चलाया जा रहा है।

घात लगाकर हमला
न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार म्यांमार की सीमा से सटे मणिपुर के चंदल जिले में स्थानीय उग्रवादियों द्वारा घात लगाकर हमला किया गया, बताया जा रहा है कि पहले से ही हमले की पूरी तैयारी थी, इसे पीएलए ने अंजाम दिया है, उग्रवादियों ने पहले आईईडी ब्लास्ट किया, फिर सैनिकों पर गोलियां चलाई।

अतिरिक्त फोर्स भेजी गई
सूत्रों का दावा है कि राजधानी इंफाल से 100 किमी दूर हमले वाली जगह पर अतिरिक्त फोर्स को भेजा गया है, माना जा रहा है कि अलगाववादी संगठन चीन से नियमित रुप से वित्तिय सहायता और हथियार प्राप्त कर रहे हैं, जिससे उसे उत्तर-पूर्व में अपने नेटवर्क को बनाये रखने में मदद मिलती है, भारतीय खुफिया एजेंसियों के मुताबिक ये सहायता कई दशकों से सीमावर्ती इलाकों में उग्रवाद को बढावा दे रही है।

750 जवान अब तक शहीद
सरकारी आंकड़ों के मुताबिक आजादी के बाद से ही असम रायफल्स को इन क्षेत्रों में विद्रोह के खिलाफ लड़ाई में अब तक 750 से ज्यादा जवानों और अधिकारियों को खोना पड़ा है, इस साल की शुरुआत में एनआईए ने 2017 में मणिपुर में असम रायफल्स के एक जवान पर हमले के लिये 6 पीएलए उग्रवादियों के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया था।

Read Also – चीन के खिलाफ मोदी सरकार का एक और एक्शन, दूसरे डिजिटल स्ट्राइक से जिनपिंग होंगे चित!