sushil wife

सुशील कुमार का जन्म 26 मई 1983 को नजफगढ के पास बारपोला गांव में हुआ था, उन्होने 14 साल की उम्र में पहलवानी शुरु कर दी थी, उनके पिता डीटीसी में ड्राइवर थे।

ओलंपिक में देश का नाम ऊंचा करने वाले सुशील कुमार जबरदस्त सुर्खियों में हैं, दरअसल सुशील पर एक पहलवान सागर धनखड़ की हत्या का आरोप है, 18 दिन पुलिस से भागने वाले सुशील कुमार अब पुलिस के हत्थे चढ गये हैं, आपको बता दें कि सुशील देश के इकलौते पहलवान हैं, जिन्होने ओलंपिक में दो मेडल जीते हैं, उनके करियर की तरह ही उनकी निजी जिंदगी भी आसान नहीं रही है, एक सामान्य परिवार में पैदा होकर आसमान की बुलंदियों को उन्होने छुआ।

ड्राइवर के घर जन्म
सुशील कुमार का जन्म 26 मई 1983 को नजफगढ के पास बारपोला गांव में हुआ था, उन्होने 14 साल की उम्र में पहलवानी शुरु कर दी थी, उनके पिता डीटीसी में ड्राइवर थे, सुशील खुद भारतीय रेलवे में कमर्शियल मैनेजर हैं, पद्मभूषम, द्रोणाचार्य और अर्जुन पुरस्कार विजेता महाबली सतपाल से पहलवानी के गुर सीखने वाले सुशील ने 2008 के बीजिंग ओलंपिक में ब्रांज और 2012 के लंदन ओलंपिक में देश के लिये सिल्वर मेडल जीता था।

गुरु की बेटी से शादी
महाबली सतपाल सुशील कुमार को बेहद स्नेह देते थे, इसका एक कारण ये भी था, कि वो पहलवानी में उनका नाम ऊंचा कर रहे थे, बाद में सतपाल ने अपनी बेटी से ही सुशील की शादी करा दी, हालांकि इसके बारे में कहा जाता है कि सगाई से पहले सुशील ने कभी अपनी पत्नी को नहीं देखा था।

सावी को पहली बार देखा
सुशील कुमार ने शादी से पहले गुरु की बेटी को कभी नहीं देखा था, वो काफी शर्मीले स्वाभाव के माने जाते हैं, लेकिन एक इंटरव्यू में उन्होने बताया था कि जब सगाई के दौरान उन्होने सावी को पहली बार देखा था, तो समझ गये थे कि दोनों की खूब जमेगी।

Read Also – पुलिस पूछताछ में फफक पड़े सुशील कुमार, क्या था कत्ल का ‘मकसद’