altaf1

शुक्रवार को जैसे ही यूपीएससी ने सिविल सेवा परीक्षा के लिये परिणाम की घोषणा की, तो अल्ताफ के घर में खुशी की लहर दौड़ गई, क्योंकि उन्होने सफलता हासिल की है।

पुणे के काटेवाड़ी के अल्ताफ शेख ने यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा में सफलता हासिल की है, ग्रामीण इलाके के युवक का संघर्ष काफी प्रेरणादायक और दिलचस्प है, घर की आर्थिक स्थिति नाजुक होने के बाद भी अल्ताफ ने मेहनत और लगन से घर वालों के सपने को साकार किया है। वो फिलहाल केन्द्रीय लोक सेवा आयोग में सहायक कमांडेंट पद पर हैं, अब भारतीय पुलिस सेवा के लिये चुने गये हैं।

यूपीएससी में सफलता
शुक्रवार को जैसे ही यूपीएससी ने सिविल सेवा परीक्षा के लिये परिणाम की घोषणा की, तो अल्ताफ के घर में खुशी की लहर दौड़ गई, क्योंकि उन्होने सफलता हासिल की है, कभी स्कूल में भजिया और चाय बेचने वाले अल्ताफ अब आईपीएस अधिकारी बनने जा रहे हैं, वो बारामती तालुका के पहले आईपीएस बने हैं।

नवोदय स्कूल से पढाई
अल्ताफ इस्लामपुर के नवोदय विद्यालय से पढे हैं, बाद में उन्होने फूड टेक्नोलॉजी में बीए किया, फिर नौकरी की तैयारी करने लगे, जिसके बाद पहली सफलता उन्हें मिली, वो वर्तमान में उस्मानाबाद में इंटेलिजेंस ऑफिसर के पद पर तैनात हैं। अब उनका चयन आईपीएस के लिये हो गया है।

युवाओं के लिये पहल
आपको बता दें कि डिप्टी सीएम अजित पवार और सुनेत्रा पवार की पहल पर ग्रामीण क्षेत्रों के युवाओं को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने में मदद करने के उद्देश्य से बारामती में राष्ट्रवादी करियर एकेडमी की शुरुआत की गई थी, छात्रों को प्रतियोगी परीक्षाओं के लिये अनुकूल वातावरण उपलब्ध कराने का प्रयास किया गया है, इसी एकेडमी से पढे अल्ताफ शेख आज आईपीएस बन गये हैं।

Read Also – कौन है स्नेहा दूबे, जिसने UN में इमरान खान को धो डाला, हो रही खूब तारीफ