Phogat (1)

राजस्थान के झूंझनू जिले के गांव जैतपुर निवासी 17 वर्षीय रितिका अपने फूफा द्रोणाचार्य अवॉर्डी महाबीर पहलवान की गांव बलाली स्थित कुश्ती एकेडमी में प्रैक्टिस करती थी।

दंगल गर्ल गीता और बबीता फोगाट की ममेरी बहन महिला पहलवान कुश्ती के फाइनल मुकाबले में हार बर्दाश्त नहीं कर सकी, सोमवार रात अपने फूफा महाबीर फोगाट के गांव बलाली स्थित मकान में फांसी लगाकर जान दे दी, पुलिस ने पोस्टमॉर्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है, मृतका कई सालों से महाबीर फोगाट के घर पर ही कुश्ती की प्रैक्टिस कर रही थी।

फूफा के यहां रहती थी
आपको बता दें कि राजस्थान के झूंझनू जिले के गांव जैतपुर निवासी 17 वर्षीय रितिका अपने फूफा द्रोणाचार्य अवॉर्डी महाबीर पहलवान की गांव बलाली स्थित कुश्ती एकेडमी में प्रैक्टिस करती थी, रितिका ने पिछले दिनों भरतपुर के लोढागढ स्टेडियम में आयोजित राज्य स्तरीय सब जूनियर, जूनियर महिला तथा पुरुष कुश्ती प्रतियोगिता में भाग लिया था।

हार से सदमा
फाइनल मुकाबले में रितिका एक अंक से हार गई थी, बताया जाता है कि इस मुकाबले के दौरान वहां महाबीर फोगाट भी मौजूद थे, मैच में मिली हार के बाद से रितिका सदमे में थी, 15 मार्च की रात करीब 11 बजे महाबीर फोगाट के गांव बलाली स्थित मकान के कमरे में पंखे पर दुपट्टे का फंदा लगाकर अपनी जान दे दी।

फांसी लगाकर जान दी
बताया जा रहा है कि 15 मार्च को महिला पहलवान ने देर रात अपने कमरे में दुपट्टे से फांसी लगाकर जान दे दी, शव का झोझू कलां पुलिस थाना द्वारा दादरी के सिविल अस्पताल में पोस्टमॉर्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया गया है, डीएसपी राम सिंह ने बताया कि पुलिस ने शव को पोस्टमॉर्टम के बाद परिजनों को सौप दिया है।

Read Also – देवर के साथ भागी 2 बच्चों की मां, 4 दिन बाद लौटने पर कही ऐसी बात, हर कोई हैरान!