oxygen-man

शाहनवाज शेख की कहानी प्रेरणादायी है, दरअसल बीते साल जब कोरोना की पहली लहर ने कोहराम मचाया, तो शाहनवाज ने अपने जिगरी दोस्त को खो दिया, उसके बाद उनके मन में लोगों की सेवा का ख्याल आया।

कोरोना अपने पीक पर है, ऑक्सीजन की कमी का सामना लोगों को चाहे अनचाहे करना पड़ रहा है, ऐसे में मुंबई का एक शख्स लोगों की जान बचाने में अपना सबकुछ लगा रहा है, यूनिटी ऑफ डिग्निटी फाउंडेशन के जरिये वो लोगों तक मुफ्त में ऑक्सीजन पहुंचाने का काम कर रहा है, वो लोगों के घर जाकर उन्हें जीवनदायी गैस उपलब्ध कराते हैं।

प्रेरणादायी है कहानी
शाहनवाज शेख की कहानी प्रेरणादायी है, दरअसल बीते साल जब कोरोना की पहली लहर ने कोहराम मचाया, तो शाहनवाज ने अपने जिगरी दोस्त को खो दिया, उसके बाद उनके मन में लोगों की सेवा का ख्याल आया, उन्होने अपनी एसयूवी कार बेचकर कुछ पैसे जुटाये और उनसे दवाएं तथा ऑक्सीजन सिलेंडर खरीदे, फिर शुरु हुआ लोगों की मदद का सिलसिला जो आज तक जारी है।

चल रहा है मिशन
शाहनवाज ने बताया कि पिछली बार जब उन्होने अपना मिशन शुरु किया, तो ऑक्सीजन के लिये उनके पास 50 काल्स रोजाना आती थी, लेकिन इस बार का मंजर अलग है, Corona Hospital इस बार गैस की किल्लत के चलते 500 से 600 काल्स रोजाना आ रही है, शेख ने कहा कि वो कैसे भी करके लोगों की मदद करने में जुटे हुए हैं, उनका कहना है कि अभी ऑक्सीजन मिलने में परेशानी हो रही है, सरकार उन्हें अगर गैस उपलब्ध कराती रहे, तो वो और ज्यादा शिद्दत से लोगों की सेवा कर सकते हैं।

सोशल मीडिया पर शाबाशी
उनके इस काम की लोग खूब सराहना कर रहे हैं, मलाड की मलवानी लेन का उन्हें हीरो कहा जा रहा है, उनके काम की तारीफ करते हुए आईएफएस सुधा रमेन ने लिखा, उनके जैसे लोग समाज के लिये प्रेरणा हैं, वो ही असल लाइफ के हीरो हैं।

Read Also – यूपी बना कोरोना का नया अड्डा-श्मशान-अस्पतालों में लगी लाइनें है सबूत, क्या है कारण?