कोरोना- मुकेश अंबानी को हुआ इतने अरब का नुकसान, दुनिया के शीर्ष 20 अरबपतियों की सूची से बाहर

0
161

ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के शीर्ष बीस अरबपतियों की सूची में अमेजन डॉट कॉम के संस्थापक जेफ बेजोस पहले स्थान पर हैं, उनकी संपत्ति 11600 करोड़ डॉलर है।

कोरोना वायरस का पूरी दुनिया पर असर दिख रहा है, लोगों के साथ-साथ अर्थव्यवस्था को भी बुरी तरह से प्रभावित किया है, बाजार में लगातार गिरावट देखने को मिल रहा है, इस महामारी से अरबपति परेशान हो रहे हैं, उन्हें काफी बड़ा नुकसान उठाना पड़ रहा है, कोरोना की वजह से भारत में वित्तीय संकट लगातार गहराता जा रहा है, शेयर बाजार में कई सेक्टर में भारी गिरावट देखने को मिल रहा है, ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स की रिपोर्ट के अनुसार देश के 14 सबसे अमीर अरबपतियों को लगभग 4 लाख करोड़ का नुकसान हुआ है, मुकेश अंबानी दुनिया के सबसे टॉप बीस अमीरों की सूची से बाहर हो गये हैं।

42 फीसदी घट गई संपत्ति
इस साल के शुरुआत से यानी कि 1 जनवरी 2020 से अब तक मुकेश अंबानी की प्रॉपर्टी 42 फीसदी घट गई है, इसे आसान भाषा में ऐसे समझें, कि अगर 1 दिन में 1 करोड़ का नुकसान हो रहा है, तो उसमें 42 रुपये अंबानी के डूब रहे हैं. इसी का असर है कि ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के टॉप 20 अरबपतियों की सूची से मुकेश अंबानी बाहर हो चुके हैं, ऐसे में अगर ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स की मानें, तो मुकेश अंबानी की संपत्ति 1 जनवरी को 4,36,570 करोड़ रुपये थी, जो 20 मार्च को घटकर 3440 करोड़ डॉलर यानी 2,56,280 करोड़ रुपये हो गई हबै, यानी तीन महीने में उनकी संपत्ति 1,80,290 करोड़ रुपये घट गई है।

जेफ बेजोस सबसे ऊपर
आपको बता दें कि ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के शीर्ष बीस अरबपतियों की सूची में अमेजन डॉट कॉम के संस्थापक जेफ बेजोस पहले स्थान पर हैं, उनकी संपत्ति 11600 करोड़ डॉलर है। कोरोना का असर अर्थव्यवस्था पर जबरदस्त देखने को मिल रहा है, बेंचमार्क सूचकांकों में सिर्फ 44 सत्रों में ही 37 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है।

जीडीपी कम
आसान भाषा में समझें, तो सिर्फ 44 दिनों में ही भारत की सलाना जीडीपी का 40 फीसदी बर्बाद हो गया, इससे पहले साल 2008 में बेंचमार्क इंडेक्स 200 सत्रों में 66 फीसदी गिरा था, जबकि 2011 में बेंचमार्क इंडेक्स के 275 सत्रों में 28 फीसदी की गिरावट से खलबली मच गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here