mukesh ambani

रिलायंस ने अपने बयान में ये भी कहा है कि अगर इस संकट की वजह से उनका काम रुकता है, तो भी वो अपने परमानेंट और कॉन्ट्रेक्ट पर काम करने वाले कर्मचारियों को पूरी सैलरी देगी।

कोरोना वायरस से जंग लड़ने के लिये पूरा देश एकजुट हो रहा है, भारत के सबसे बड़े उद्योगपति मुकेश अंबानी की कंपनी आरआईएल ने सरकार की मदद करने के लिये अपने सभी कंपनी रिलायंस रिटेल, जियो और रिलायंस फाउंडेशन के साथ मिलकर एक मेगा प्लान लांच किया है, जिससे कोरोना को जल्द से जल्द हराया जा सके, रिलायंस ने कई जरुरी बड़े फैसले लिये हैं, जिससे मोदी सरकार को इस संक्रमण से लड़ने में मदद मिल सके, आइये जानते हैं कि रिलायंस क्या क्या कदम उठाने वाली है।

उत्पादन क्षमता बढाने का फैसला
रिलायंस इंडस्ट्रीज ने कोरोना महामारी को देखते हुए उत्पादन क्षमता बढाने का फैसला लिया है, अब एक लाख मास्क प्रतिदिन, साथ ही कोरोना के मरीजों को ले जाने वाले वाहनों को मुफ्त ईंधन देने के अलावा कई शहरों में मुफ्त भोजन देने के लिये स्टॉल लगाने का भी फैसला किया है। रिलायंस ने सोमवार को बयान जारी कर कहा कि उनकी सीएसआर ईकाई द्वारा संचालित अस्पताल ने अपने एक अस्पताल में कोरोना के मरीजों के लिये 100 बेड वाली एक यूनिट तैयार की है, जहां मरीजों का मुफ्त में इलाज होगा।

पूरी सैलरी
रिलायंस ने अपने बयान में ये भी कहा है कि अगर इस संकट की वजह से उनका काम रुकता है, तो भी वो अपने परमानेंट और कॉन्ट्रेक्ट पर काम करने वाले कर्मचारियों को पूरी सैलरी देगी। इसके साथ ही कंपनी ने कहा कि कोरोना मरीजों को ले जाने वाले इमरजेंसी व्हीकल को मुफ्त में ईंधन उपलब्ध कराया जाएगा, साथ ही रिलायंस फाउंडेशन उन लोगों को मुफ्त में भोजन उपलब्ध कराएगी, जिनकी इस महामारी की वजह से रोजी-रोटी प्रभावित हुई है।

5 करोड़ का दान
रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने महाराष्ट्र सरकार के राहत कोष में 5 करोड़ रुपये का दान देने का ऐलान किया है, इसके साथ ही कंपनी ने ये भी ऐलान किया है,   कि देश के मजदूरों और वर्कर्स के लिये फेस मास्क और पीपीटी सूट तैयार करेगी। ताकि मजदूरों को इस महामारी से बचाया जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here