ड्राइविंग लाइसेंस से जुड़े नियमों में बड़ा फेरबदल, मोदी सरकार का बड़ा फैसला

0
1976
driving licence

मंत्रालय को इस बात की जानकारी दी गई थी, कि कलर ब्लाइंड नागरिकों को ड्राइविंग लाइसेंस नहीं दिया जा रहा है, जिसके बाद इस मसले पर चिकित्सा विशेषज्ञ से राय मांगी गई।

केन्द्रीय सड़क एवं परिवहन एवं राष्ट्रीय राजमार्ग मंत्रालय ने शुक्रवार को मोटर वाहन नियमों में संशोधन के लिये अधिसूचना जारी की है, इसके अनुसार अब हल्के एवं मध्यम कलर ब्लाइंड लोगों को भी ड्राइविंग लाइसेंस जारी किया जा सकेगा। मंत्रालय ने कहा है कि दुनिया के अन्य हिस्सों में भी इसकी अनुमति है।

नये संशोधन की अधिसूचना जारी
मंत्रालय की ओर से बयान में कहा गया है कि सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने केन्द्रीय मोटर वाहन नियम 1989 के फॉर्म 1 और फॉर्म 1ए में संशोधन के लिये अधिसूचना जारी की है, इससे हल्के और मध्यम वर्णान्ध नागरिक ड्राइविंग लाइसेंस हासिल कर सकेंगे।

कलर ब्लाइंड लोगों को भी मिल सकेगा लाइसेंस
मिनिस्ट्री ने कहा कि वो दिव्यांगजन नागरिकों को परिवहन आधारित सेवाएं खासकर ड्राइविंग लाइसेंस उपलब्ध कराने के लिये कई कदम उठा रहा है, बयान में ये भी कहा गया है कि दिव्यांगजन नागरिकों को ड्राइविंग लाइसेंस के लिये परामर्श जारी किया जा चुका है, अब कलर ब्लाइंड लोगों को भी ड्राइविंग लाइसेंस के लिये परामर्श जारी किया जा रहा है।

चिकित्सा विशेषज्ञ से सलाह
मंत्रालय को इस बात की जानकारी दी गई थी, कि कलर ब्लाइंड नागरिकों को ड्राइविंग लाइसेंस नहीं दिया जा रहा है, जिसके बाद इस मसले पर चिकित्सा विशेषज्ञ से राय मांगी गई, उनकी सिफारिशों के आधार पर हल्के तथा मध्यम कलर ब्लाइंड लोगों को ड्राइविंग लाइसेंस देने की अनुमति दी गई है, हालंकि गंभीर वर्णान्ध नागरिकों को ड्राइविंग लाइसेंस जारी नहीं किया जाएगा।

Read Also – मोदी सरकार की चीन पर डिजिटल स्ट्राइक, बैन किए 59 चायनीज ऐप