अगले महीने ज्योतिरादित्य सिंधिया की ताजपोशी, मोदी सरकार में मिल सकता है ये अहम मंत्रालय

0
3907

ज्योतिरादित्य की छवि सुलझे हुए, साफ-सुथरी और तेज-तर्रार युवा नेता की है, वो मनमोहन सरकार में भी मंत्री रह चुके हैं।

राहुल गांधी के करीबी दोस्त और कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस छोड़ बीजेपी में आ चुके हैं, बीजेपी के कई बड़े नेताओं ने आगे बढकर ज्योतिरादित्य का स्वागत किया, एमपी के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान से लेकर केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह और पीएम मोदी तक से उनकी मुलाकात हो चुकी है, कहा जा रहा है कि राज्यसभा के बाद उन्हें मोदी मंत्रिमंडल में अहम जिम्मेदारी दी जा सकती है, ऐसे में सवाल ये उठ रहा है कि आखिर सिंधिया को कौन सा मंत्रालय दिया जा सकता है।

6 मिनट में राज्यसभा टिकट
ज्योतिरादित्य सिंधिया ने जैसे ही बीजेपी ज्वाइन किया, इसके 6 मिनट बाद ही उनकी उम्मीदवारी का ऐलान कर दिया गया, इसी बात से आप उनके राजनीतिक कद का अंदाजा लगा सकते हैं, अमित शाह खुद सिंधिया को लेकर पीएम मोदी के आवास पर मुलाकात के लिये पहुंचे थी, तब से ही कहा जा रहा है कि मोदी सरकार में उन्हें बड़ी जिम्मेदारी मिल सकती है।

कौन सा मंत्रालय
आपको बता दें कि ज्योतिरादित्य की छवि सुलझे हुए, साफ-सुथरी और तेज-तर्रार युवा नेता की है, वो मनमोहन सरकार में भी मंत्री रह चुके हैं, लेकिन कहा जा रहा है कि इस बार मोदी सरकार में राज्यमंत्री या स्वतंत्र प्रभार नहीं बल्कि एक पूरा मंत्रालय उनके जिम्मे किया जा सकता है, जिसके लिये तरह-तरह की बातें हो रही है, कोई उन्हें फाइनेंस मिनिस्ट्री से जोड़ रहा है, तो कोई पावर मिनिस्ट्री दिलवा रहा है।

वाणिज्य मंत्रालय की ज्यादा संभावना
वाणिज्य मंत्रालय की इसलिये संभावना ज्यादा है, क्योंकि ज्योतिरादित्य ने हॉर्वर्ड से पढाई की है, इसके साथ ही राजनीति में आने से पहले वो बैंकर थे, लेकिन अचानक साल 2001 में पिता माधवराव सिंधिया का हवाई दुर्घटना में निधन हो गया, जिसके बाद उन्हें राजनीति में आना पड़ा, इसके साथ ही बजट के दौरान भी कई बार उन्होने संसद में शानदार भाषण दिया है, जिसके बाद कयास लगाये जा रहे हैं कि उन्हें वाणिज्य मंत्रालय की जिम्मेदारी दी जा सकती है, वैसे भी सरकार अर्थव्यवस्था को लेकर विरोधियों के निशाने पर है, ऐसे में वो बड़ी भूमिका निभा सकते हैं, अगले महीने मंत्रिमंडल में बदलाव किया जा सकता है, जिसमें कुछ मंत्रियों के विभाग भी बदले जा सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here