पूरी दुनिया कोरोना में उलझी है, कश्मीर का एक और जिला आतंकी मुक्त, सुरक्षाबलों ने तीन को ढेर किया

0
48
Indian army

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग सेक्टर में भी सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुआ, जिसमें तीन आतंकियों को मार गिराया गया है।

कोरोना काल में जम्मू-कश्मीर में आतंकियों की शामत आ चुकी है, आतंकियों को जम्मू-कश्मीर से पूरी तरह से खत्म करने के लिये भारतीय सुरक्षाबलों के अभियान में आज डोडा जिले का भी नाम शामिल हो गया है, कश्मीर में आतंक का गढ कहे जाने वाले त्राल सेक्टर के बाद अब भारतीय सुरक्षाबलों को डोडा जिले में भी बड़ी कामयाबी मिली है, कश्मीर पुलिस के डीजीपी दिलबाग सिंह ने लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकियों को मारे जाने की खबर के साथ ही डोडा जिले को आंतक मुक्त होने का ऐलान कर दिया है।

दो आतंकी ढेर
डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया कि अनंतनाग के खुल चोहार इलाके में पुलिस और स्थानीय राष्ट्रीय राइफल्स यूनिट ने सोमवार सुबह मुठभेड़ में लश्कर के दो आतंकियों को मार गिराया, मारे गये आतंकियों में से एक लश्कर का जिला कमांडर था, मुठभेड़ में हिज्बुल मुजाहिद्दीन के कमांडर मसूद को भी मार गिराया गया है, दिलबाग सिंह ने आतंकियों के मारे जाने की सूचना देने के साथ ही कहा कि भारतीय सुरक्षाबलों ने डोडा जिले में आतंकियों के ताबूत में आखिरी कील ठोक दी है, पूरी तरह से डोडा को आतंक मुक्त कर दिया है।

अनंतनाग में भी एनकाउंटर
आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग सेक्टर में भी सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुआ, जिसमें तीन आतंकियों को मार गिराया गया है, पुलिस अधिकारियों ने बताया कि खुफिया जानकारी मिली थी कि कुछ आतंकी दक्षिणी कश्मीर के खुल चोहार में छुपे हुए हैं, जानकारी के बाद जब इलाके में सर्ट ऑपरेशन चलाया गया, तो आतंकियों ने फायरिंग शुरु कर दी, दोनों ओर से चली गोलियों में तीन आतंकी मारे गये, मारे गये आतंकियों में लश्कर के दो और हिज्बुल कमांडर मसूद शामिल है।

31 साल बाद हिज्बुल आतंकियों से मुक्त हुआ त्राल
जम्मू-कश्मीर में भारतीय सुरक्षाबलों की चौकसी की वजह से दहशतगर्दों की शामत आ चुकी है, इसे भारतीय सुरक्षाबलों की सतर्कता का भी नतीजा कहेंगे, कि आतंकियों के गढ कहे जाने वाले दक्षिण कश्मीर के पुलवामा सेक्टर भी अब आतंक मुक्त हो चुका है, पिछले कुछ दिनों से जिस तरह से भारतीय सुरक्षीबलों ने आतंकियों को मुठभेड़ में मार गिराया है, उसके बाद से कश्मीर के त्राल क्षेत्र में हिज्बुल का एक भी सक्रिय आतंकी नहीं बचा है, बताया जाता है कि साल 1989 से त्राल में आतंकी सक्रिय थे, लेकिन अब यहां के सारे आतंकी खत्म हो चुके हैं।

Read Also – कश्मीर में हिजबुल के सफाया करने वाले को अमित शाह ने दिल्ली में लगाया, दंगाइयों के लिये खास रणनीति