ankita1

सोशल मीडिया यूजर ने आईपीएस अंकिता शर्मा की तस्वीरें शेयर करते हुए ट्वीट किया, बस्तर में पहली बार नक्सल ऑपरेशन की कमान महिला आईपीएस के हाथों में है।

महिला आईपीएस अधिकारी अंकिता शर्मा नक्सल प्रभावित बस्तर जिले में नक्सल ऑपरेशन की कमान संभाल रही हैं, सोशल मीडिया पर इन दिनों खूब चर्चा बटोर रही है, उन्हें असली हीरोइन बताया जा रहा है, अंकिता की पहचान दबंग और दमदार ऑफिसर के रुप में होती है, आपको बता दें कि अंकिता शर्मा अपने कामों के अलावा लुक की वजह से भी चर्चा में रहती है, इंस्टाग्राम पर अकसर स्टाइलिश तस्वीरें पोस्ट करती रहती हैं।

ये है असली हीरोइन
दरअसल सोशल मीडिया यूजर ने आईपीएस अंकिता शर्मा की तस्वीरें शेयर करते हुए ट्वीट किया, बस्तर में पहली बार नक्सल ऑपरेशन की कमान महिला आईपीएस के हाथों में है, इस ट्वीट को एक्ट्रेस रवीना टंडन ने री-ट्वीट करते हुए लिखा, ट्रू ब्लू बोलेडेड हीरोइन्स, रवीना के इस ट्वीट पर खुद अंकिता शर्मा ने भी कमेंट किया और तारीफ के लिये धन्यवाद कहा।

रविवार को बन जाती हैं टीचर
अंकिता अकसर उन युवाओं की मदद करती हैं, जिनमें कुछ कर गुजरने की ललक है, दरअसल अंकिता शर्मा पूरे सप्ताह ड्यूटी में व्यस्त रहती हैं, रविवार को एक टीचर की भूमिका में आ जाती हैं, इस दौरान वो अपने ऑफिस में करीब 20-25 युवाओं को पढाती है, जो यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं, इनमें ज्यादातर ऐसे युवा हैं जो महंगे कोचिंग की फीस का खर्च नहीं उठा सकते। अंकिता छत्तीसगढ के नक्सल प्रभावित क्षेत्र बस्तर में असिस्टेंट सुपरिटेंडेंट पद पर तैनात है, वो नक्सल ऑपरेशन की कमान संभाल रही हैं, अंकिता छत्तीसगढ के दुर्ग जिले के एक छोटे से गांव की रहने वाली है, उन्होने अपनी शुरुआती पढाई सरकारी स्कूल से की है।

2018 में मिली सफलता
अंकिता शर्मा ने एक इंटरव्यू में बताया था कि वो बचपन से ही आईपीएस बनना चाहती थी, लेकिन इस विषय की उन्हें कई जानकारी नहीं थी, मार्गदर्शन के लिये कोई नहीं था, इस वजह से उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ा, अंकिता ने 2018 में तीसरे प्रयास में सफलता हासिल की, उन्होने यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा में 203वीं रैंक हासिल की, आईपीएस बनने का सपना पूरा किया, अंकिता होम कैडर पाने वाली छत्तीसगढ की पहली महिला आईपीएस है। उन्होने अपनी शुरुआती पढाई दुर्ग जिले से की, ग्रेजुएश के बाद एमबीए किया, फिर यूपीएससी की तैयारी के लिये दिल्ली चली गई, लेकिन उन्होने सिर्फ 6 महीने वहां तैयारी फिर घर वापस लौटकर सेल्फ स्टडी करने लगी, उन्होने एक इंटरव्यू में बताया था कि तैयारी के दौरान ही उनकी शादी हो गई थी, पति विवेकानंद शुक्ला आर्मी में मेजर हैं, वर्तमान में मुंबई में तैनात हैं, पति के साथ रहते हुए उन्हें जम्मू-कश्मीर, हैदराबाद, झांसी जैसे शहरों में रहना पड़ा, उनको यूपीएससी की परीक्षा में दो बार असफलता भी मिली, लेकिन उन्होने हार नहीं मानी, तीसरी बार में परीक्षा पास की।

Read Also- राखी सावंत से अपने रिश्ते की रितेश ने खोल दी पोल, पहली पत्नी पर भी गंभीर आरोप