इन दो महिलाओं ने लिखी पटकथा, अमित शाह ने की निगरानी, फिर भाजपाई हो गये ज्योतिरादित्य सिंधिया

0
221

प्रियदर्शिनी की मां महारानी शुभांगिनी देवी गायकवाड़ ने उनके और पीएम मोदी के बीच मध्यस्थता में बड़ी भूमिका निभाई।

ज्योतिरादित्य सिंधिया अब भाजपाई हो चुके हैं, सिंधिया के बीजेपी में शामिल होने के पीछे कई किरदार बताये जा रहे हैं, लेकिन कहा जा रहा है कि सिंधिया को कांग्रेस से निकाल कर बीजेपी में लाने में मुख्य भूमिका उनकी पत्नी प्रियदर्शिनी राजे सिंधिया का है, सूत्रों का दावा है प्रियदर्शिनी के पहल के बाद भी ज्योतिरादित्य ने कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल होने का फैसला लिया।

बड़ौदा राजघराने की बेटी
मालूम हो कि पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की पत्नी बड़ौदा राजघराने की राजकुमारी रही हैं, प्रियदर्शिनी की मां महारानी शुभांगिनी देवी गायकवाड़ ने उनके और पीएम मोदी के बीच मध्यस्थता में बड़ी भूमिका निभाई, आपको बता दें कि 2014 लोकसभा चुनाव में मोदी वाराणसी के साथ-साथ वड़ोदरा से भी चुनाव लड़े थे, तो शुभांगिनी गायकवाड़ उनकी प्रस्तावक थी, दोनों के बीच काफी अच्छे संबंध हैं।

प्रियदर्शिनी ने की बात
सूत्रों का दावा है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया का ससुराल पक्ष पहले से ही चाहता था, कि सिंधिया बीजेपी में शामिल हो जाएं, कांग्रेस में लगातार उनकी उपेक्षा हो रही थी, एमपी विधानसभा चुनाव से पहले वो अघोषित मुख्यमंत्री उम्मीदवार थे, लेकिन जब चुनाव परिणाम सामने आये, तो राहुल गांधी और सोनिया गांधी ने कमलनाथ को कुर्सी दे दी। इसके बाद से ही सिंधिया को बीजेपी में लाने की पटकथा शुरु हो गई थी।

शाह ने की निगरानी
बताया जाता है कि केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने एमपी में हुए इस सारे घटनाक्रम की निगरानी खुद ही की, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, शिवराज सिंह चौहान की भी भूमिका है, लेकिन खुद अमित शाह सिंधिया को लेकर पीएम मोदी से मुलाकात करने पहुंचे, जिसके अगले दिन वो बीजेपी में शामिल हुए, कहा जा रहा है कि अगले महीने सिंधिया को मोदी मंत्रीमंडल में जगह भी दिया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here