Indore

टायर कारोबारी अशोक वर्मा शनिवार सुबह से गायब थे, वो सुबह के समय घर से दुकान के लिये निकले थे, लेकिन दुकान नहीं पहुंचे।

इंदौर के लसूड़िया थाना इलाके से लापता टायर कारोबारी अशोक वर्मा की लाश मिली है, उनकी लाश नग्न हालत में सिमरौल के जंगल में 300 फीट गहरी खाई में पड़ी थी, हत्या के आरोप में पूर्व नौकर तथा उसकी पत्नी को गिरफ्तार किया गया है, पूर्व नौकर का कहना है कि कारोबारी उसकी पत्नी से जबरिया शारीरिक संबंद बनाता था, वीडियो दिखाकर ब्लैकमेल करता था, लेकिन पुलिस दूसरे एंगल पर भी जांच कर रही है, जिसमें कारोबारी पैसों से भरा सूटकेस लेकर घर से निकले थे, वो गायब है।

शनिवार सुबह घर से निकले
टायर कारोबारी अशोक वर्मा शनिवार सुबह से गायब थे, वो सुबह के समय घर से दुकान के लिये निकले थे, लेकिन दुकान नहीं पहुंचे, काफी समय बीत जाने के बाद भी घर नहीं लौटे, उनका मोबाइल फोन भी बंद था, इसके बाद परिवार ने उनकी गुमशुदगी रिपोर्ट लसूड़िया थाने में दर्ज कराई थी। पुलिस ने आसपास के इलाके की सीसीटीवी खंगाली तो अपनी बाइक से पूर्व नौकर और उनकी पत्नी के साथ जाते दिखे, इसके बाद वो दोनों भी गायब थे, उनके फोन भी बंद थे, जाहिर था कि शक की सूई इन दोनों पर ही जाना था, पुलिस ने दोनों को हिरासत में लिया उनसे सख्ती से पूछताछ की, उन्होने अपना जुर्म कबूल लिया, पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर जंगल से अशोक वर्मा का शव बरामद कर लिया।

नग्न थी लाश
टायर कारोबारी अशोक वर्मा का शव सोमवार सुबह सिमरोल के जंगलों में नग्न अवस्था में मिला, सूत्रों का मुताबिक गोली मारकर हत्या की आशंका जताई जा रही है, शव को पोस्टमॉर्टम के लिये भेज दिया गया है, पुलिस ने मोबाइल लोकेशन तथा परिवार से मिली जानकारी के आधार पर आरोपियों को पकड़ा है, पूछताछ में आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल लिया है, उन्होने बताया कि अशोक के नौकर की पत्नी से अवैध संबंध थे, वो अकसर जंगल में युवती को बुलाता था, उसके साथ जबरिया संबंध बनाता था, मृतक के मोबाइल में कुछ वीडियो भी थे, जिन्हें दिखाकर वो युवती को ब्लैकमेल भी करता था।

साजिश के तहत जंगल ले गये
शनिवार को साजिश बनाकर पति-पत्नी ने कारोबारी को सिमरोल के जंगल में बुलाया था, रिपोर्ट के मुताबिक कारोबारी नौकर की पत्नी से शारीरिक संबंध बना रहा था, उसी समय नौकर ने उस पर कट्टे से फायर कर दिया, अशोक की मौके पर ही मौत हो गई, इस दौरान युवती के भी घायल होने की जानकारी मिली है, हालांकि पुलिस ने इस बात से इंकार किया है। सीसीटीवी में पुलिस को अशोक वर्मा देवास नाका पेट्रोल पंप से नौकर की बीवी ब्रजेश तथा उसका पति राजकुमार के साथ बाइक पर जाता दिखाई दिया, इससे पुलिस का संदेह और गहरा गया, इस फुटेज के आधार पर पुलिस ने दोनों को पकड़ा, उनसे सख्ती से पूछताछ की, तो दोनों ने बताया कि अशोक की हत्या कर चुके हैं, लाश सिमरोल के जंगल में फेंक दी है।

आरोपियों ने बताई कहानी
आरोपित नौकर राजकुमार 2015 में अशोक की दुकान पर काम करता था, इस दौरान अशोक की नजर उसकी पत्नी पर पड़ा, उसे पैसे और बाकी चीजों का लालच देकर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाया, जब ये बात राजकुमार को पता चली, तो उसने नौकरी छोड़ दी, पत्नी को लेकर सागर चला गया, लॉकडाउन के बाद जब वापस इंदौर लौटा, तो अशोक फिर से ब्रजेश से संबंध बनाने के लिये दबाव बनाने लगा, ये बात ब्रजेश ने राजकुमार को बताई, जिसके बाद दोनों ने उसे रास्ते से हटाने का साजिश रची, फिर उसकी हत्या कर दी। ये भी पता चला है कि जिस दिन वारदात हुई, उस दिन मृतक पैसों से भरा सूटकेस लेकर निकला था, वो भी गायब है, आशंका इस बात की है, कि पैसों के कारण तो अशोक की हत्या नहीं की गई, पुलिस अधीक्षक आशुतोष बागरी का कहना है कि अशोक वर्मा की तलाश के लिये इलाके के सीसीटीवी खंगाले जा रहे थे, जिसमें कारोबारी बाइक पर कुछ लोगों के साथ जाते दिखाई दिया, उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ की गई, तो दोनों ने अपना जुर्म कबूल लिया। पुलिस फिलहाल दूसरे एंगल से भी जांच कर रही है।

Read Also- एक्ट्रेस से कम नहीं है बुमराह की पत्नी, मिस इंडिया के मंच पर आजमा चुकी है किस्मत