Wednesday, May 12, 2021

चीन नहीं पचा पा रहा भारत की कोरोना वैक्सीन डिप्लोमेसी, मोदी की चाल से पड़ोसी देश में खलबली!

चीन भारत की कामयाबी के बाद अब दूसरे देशों को कम रेट पर वैक्सीन देने का ऑफर दे रहा है, खासकर नेपाल और मालदीव को अपने खेमे में लाने की कोशिश कर रहा है।

देश में कोरोना वायरस को लेकर युद्धस्तर पर वैक्सीनेशन जारी है, दूसरी ओर भारत ने अपने पड़ोसी देशों की ओर भी मदद का हाथ बढाया है, भारत अपने करीब दस पड़ोसी देशों को वैक्सीन सप्लाई करने जा रहा है, जिससे चीन में खलबली मची हुई है, आपको बता दें कि भारत भूटान, मालदीव, बांग्लादेश, नेपाल, म्यांमार और सेशेल्स को वैक्सीन भेज रहा है, साथ ही श्रीलंका, अफगानिस्तान और मॉरिशस से भी बातचीत चल रही है, कोरोना वैक्सीनेशन में भारत की इस कामयाबी को चीन हजम नहीं कर पा रहा है, लिहाजा चीन मेड इन इंडिया वैक्सीन कोविशील्ड का दुष्प्रचार करने में जुटा है।

सरकारी अखबार कर रहा दुष्प्रचार
चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने सीरम इंस्टीट्यूट में आग लगने की घटना के बाद भारत के वैक्सीन मैन्युफैक्चरिंग क्षमता पर सवाल खड़े किये हैं, अखबार में ये भी दावा किया गया है कि चीन में रहने वाले भारतीय चीनी वैक्सीन को तरजीह दे रहे हैं, बीबीसी की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि पेशेंट्स राइट्स ग्रुप ऑल इंडिया ड्रग एक्शन नेटवर्क का कहना है कि सीरम ने कोविशील्ड को लेकर ब्रीजिंग स्टडी को पूरा नहीं किया है।

कम रेट पर वैक्सीन का ऑफर
चीन भारत की कामयाबी के बाद अब दूसरे देशों को कम रेट पर वैक्सीन देने का ऑफर दे रहा है, खासकर नेपाल और मालदीव को अपने खेमे में लाने की कोशिश कर रहा है, हालांकि नेपाल में ड्रग रेगुलेटर ने अभी तक चीनी वैक्सीन को मंजूरी नहीं दी है, जबकि मालदीव सरकार से जुड़े सूत्रों का दावा है कि चीन की तरफ से वैक्सीन की किसी भी तरह की सप्लाई को लेकर कोई संकेत नहीं मिले हैं।

वैक्सीन मैन्युफैक्चरिंग का हब बन रहा भारत
मालूम हो कि भारत ने पिछले हफ्ते कहा था कि कई देशों ने हमारी वैक्सीन में रुचि दिखाई है, हम वैक्सीन मैन्युफैक्चरिंग का हब हैं, सरकार ने ये भी कहा था कि भारत साझेदार देशों को चरणबद्ध तरीके से टीके की आपूर्ति जारी रखेगा, चीन की ओर से भारत की तरफ से सऊदी अरब, साउथ अफ्रीका, ब्राजील, मोरक्को, बांग्लादेश और म्यामांर को वैक्सीन की सप्लाई कर रहा है। इतना ही नहीं चीन के करीबी देश कंबोडिया ने भी भारत से वैक्सीन देने का अनुरोध किया है।

Read Also – 125 करोड़ भारतीयों को कैसे लगेगा कोरोना वैक्सीन?, पीएम मोदी ने बताया पूरा प्लान

Related Articles

- Advertisement -spot_img

Latest Articles