rinku 1

रिंकू शर्मा केस – इस मामले में पुलिस ने अब तक 5 लोगों को गिरफ्तार किया है, जबकि बाकी आरोपियों की तलाश की जा रही है, इस हत्या के पीछे पुलिस ने किसी भी तरह का धार्मिक एंगल होने से इंकार किया है।

रिंकू शर्मा हत्याकांड में अब नया मोड़ आ गया है, ढाबा मालिक ने अपने बयान में बताया है कि घटना वाली रात उनके ढाबे में कोई बर्थडे पार्टी नहीं हुई थी और ना ही कोई झगड़ा हुआ था, लेकिन पुलिस अपने बयान में जन्मदिन पार्टी में हुए झगड़े को हत्या का कारण बता रही है, इस बयान के बाद अब दिल्ली पुलिस की भूमिका पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं।

कारोबारी दुश्मनी के चलते हत्या
दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता चिन्मय बिस्वाल ने अपने बयान में कहा है कि कारोबारी दुश्मनी के चलते रिंकू की हत्या की गई है, इसकी शुरुआत जन्मदिन पार्टी में हुई रिंकू से झगड़े से हुई थी, रिंकू अपने दोस्त की जन्मदिन पार्टी में गया था, जहां उसका झगड़ा हो गया। जब वो घर लौटा, तो हमलावरों ने घर में घुसकर उस पर हमला कर दिया, जिसमें उसकी मौत हो गई।

नारा बना हत्या की वजह
परिजनों के मुताबिक रिंकू शर्मा की हत्या इसलिये की गई, क्योंकि वो बजरंग दल से जुड़े थे, इलाके में जय श्रीराम के नारे लगाते थे, पिछले साल 5 अगस्त को अयोध्या में मंदिर शिलान्यास के उपलक्ष्य में रिंकू ने इलाके में श्रीराम रैली निकाली थी, उस समय कुल लोगों ने उन्हें धमकी भी दी थी, तभी से वो रिंकू को परेशान कर रहे थे, इसी धार्मिक रंजिश के चलते 30-40 लोगों ने लाठी, डंडे और चाकू के साथ रिंकू के घर में घुसकर उसकी बेरहमी से हत्या कर दी, अपने आखिरी शब्दों में भी रिंकू जय श्रीराम बोलता रहा।

अब तक 5 गिरफ्तार
आपको बता दें कि इस मामले में पुलिस ने अब तक 5 लोगों को गिरफ्तार किया है, जबकि बाकी आरोपियों की तलाश की जा रही है, इस हत्या के पीछे पुलिस ने किसी भी तरह का धार्मिक एंगल होने से इंकार किया है, हालांकि रिंकू के परिजन और पड़ोसी पुलिस के इस दावे को गलत बता रहे हैं, और हत्या के पीछे धार्मिक एंगल होने की बात कह रहे हैं, फिलहाल पुलिस मामले की जांच में लगी हुई है।

Read Also – दिल्ली में इस जगह खुलेआम लगती है मर्दो की बोली, रात 10 से सुबह 4 तक सजता है बाजार!