shaheen-bagh-coronavirus

जनता कर्फ्यू के बीच दिल्ली के शाहीन बाग से बड़ी खबर सामने आई है. प्रदर्शनकारियों में शामिल एक व्यक्ति कोरोना का संदिग्ध पाया गया है.

देशभर में जनता कर्फ्यू लगा हुआ है, लोग अपने घरों के अंदर हैं और हमेशा गुलजार रहने वाली सड़कें इस समय पूरी तरह खाली हैं. इसी बीच दिल्ली के शाहीन बाग से एक बड़ी खबर सामने आई है. बताया जा रहा है कि, प्रदर्शनकारियों में शामिल एक व्यक्ति कोरोना का संदिग्ध पाया गया है. जिससे इलाके में हड़कंप मच गया है. संदिग्ध व्यक्ति को मेडिकल जांच के लिए भेजा गया है. जांच रिपोर्ट आने के बाद ही पूरी तरह साफ हो पाएगा कि, व्यक्ति कोरोना से कुछसंक्रमित है या नहीं.

ये भी पढ़ेंः- फिर से छा गये सुनील ग्रोवर, कोरोना वायरस पोस्ट किया ऐसा वीडियो, हो रही जबरदस्त चर्चा

लेकिन, संदिग्ध की खबर मिलने के बाद से पूरे सोशल मीडिया पर चर्चा की जा रही है. लोगों का कहना है कि, अगर व्यक्ति पॉजिटिव होता है तो इससे कई लोगों की जान खतरे में पड़ सकती हैं. साथ ही केंद्र सरकार और लोगों की सारी मेहनत पर पानी फिर जाएगा. क्योंकि, कई बार अपील किए जाने के बाद भी लोगों ने धरना प्रदर्शन की जगह को खाली नहीं किया. इस समय भी वहां 5 महिलाएं मौजूद हैं जो धरने पर बैठी हुई हैं.

100 दिन होंगे पूरे

शाहीन बाग का रास्ता खाली कराए जाने के मामले में सोमवार को सर्वोच्च न्यायालय में सुनवाई होनी है. माना जा रहा है कि, कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए कोर्ट बड़ा फैसला ले सकता है और रास्ता खाली करने के निर्देश जारी कर सकता है. वहीं प्रदर्शनकारियों के बीच 100 दिन पूरे होने पर खुशी का माहौल है. मंच से अपील की गई है कि, 100 दिन पूरे होने की खुशी में ज्यादा से ज्यादा लोग शाहीन बाग आएं. पर चिंताजनक बात तो ये है कि, जब पूरा देश एकजुट है और इस महामारी से लड़ने की कोशिशों में लगा हुआ है. तब भी प्रदर्शनकारियों को सिर्फ धरना करना है. ऐसा लग रहा है मानो इनको किसी भी चीज से फर्क नहीं पड़ता. सिवाय नागरिकता कानून और एनपीआर के.

ये भी पढ़ेंः- पति जबरदस्ती धरने पर भेजता है, महिलाओं ने पुलिस के सामने खोल दी पोल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here