collector1

रणबीर शर्मा 2015 में कांकेर जिले के भानुप्रतापपुर में एसडीएम के रुप में काम करते हुए भी चर्चा में आये थे, तब वो पटवारी से 10 हजार रुपये रिश्वत लेते हुए पकड़े गये थे।

छत्तीगसढ के सूरजपुर जिले के कलेक्टर रणबीर शर्मा का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिस पर संज्ञान लेते हुए सीएम भूपेश बघेल ने उन्हें तत्काल प्रभाव से हटाने के निर्देश दिये हैं, इस घटना के बाद रणबीर जबरदस्त चर्चा में हैं, आपको बता दें कि बीते दिन उनका वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वो एक युवक का मोबाइल फोन तोड़ते दिख रहे थे, साथ ही युवक को जोरदारा तमाचा भी लगाया था।

घूस का आरोप
रणबीर शर्मा 2015 में कांकेर जिले के भानुप्रतापपुर में एसडीएम के रुप में काम करते हुए भी चर्चा में आये थे, तब वो पटवारी से 10 हजार रुपये रिश्वत लेते हुए पकड़े गये थे, एंटी करप्शन ब्यूरो द्वारा की गई इस कार्रवाई के बाद उन्हें पद से हटा दिया गया था।

पटवारी ने की थी शिकायत
2012 बैच के आईएएस अधिकारी की शिकायत पटवारी सुधीर लाकड़ा ने की थी, जिसके बाद कार्रवाई में वो रंगेहाथों घूस लेते पकड़े गये थे, ये सब तब हुआ, जब एसडीएम रणबीर शर्मा ने एक जमीन की खरीद-फरोख्त के मामले में जांच रोकने और कार्रवाई नहीं करने के लिये घूस की मांग की थी, पटवारी ने इसकी शिकायत एसीबी में कर दी थी, इसके बाद ब्यूरो की टीम ने रणनीति के तहत एसडीएम रणबीर शर्मा को उनके चेंबर में रिश्वत लेते पकड़ा था।

आईएएस एसोसिएशन ने की निंदा
अब सूरजपुर कलेक्टर के रुप में एक युवक के साथ बदसलूकी करते नजर आये हैं, इस घटना का वीडियो सामने आने के बाद आईएएस एसोसिएशन ने भी रणबीर शर्मा के व्यवहार की निंदा की है, उधर सीएम भूपेश बघेल ने उन्हें तत्काल प्रभाव से पद से हटा दिया है। हालांकि थप्पड़ मारने के बाद वीडियो आने के बाद रणबीर शर्मा ने माफी भी मांगी थी।

Read Also – पत्नी के कैरेक्टर पर पति करता था शक, दो बच्चों की ले ली जान