prince raj chirag

चिराग पासवान की चिट्ठी के अनुसार स्वाति नाम की एक युवती जो लोजपा से जुड़ी हुई थी, वो प्रिंस पासवान पर यौन शोषण का आरोप लगाकर उन्हें लगातार ब्लैकमेल कर रही थी।

लोजपा में टूट के बाद अब गड़े मुर्दे भी उखड़ने लगे हैं, पार्टी संसदीय दल के नेता और अध्यक्ष पद से बेदखल किये जाने के बाद चिराग पासवान ने चाचा पशुपति कुमार पारस के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है, सुलह की कोशिशों में नाकाम रहने के बाद चिराग ने पारस पर पार्टी और परिवार के हितों की अनदेखी का आरोप लगाया है, मंगलवार दोपहर ट्विटर पर एक चिट्ठी शेयर कर चिराग ने अपने चचेरे भाई और सांसद प्रिंस राज से जुड़े एक मामले का जिक्र किया है, जिसमें एक महिला ने उन पर यौन शोषण का आरोप लगाया था।

ब्लैकमेल कर रही थी
चिराग पासवान की चिट्ठी के अनुसार स्वाति नाम की एक युवती जो लोजपा से जुड़ी हुई थी, वो प्रिंस पासवान पर यौन शोषण का आरोप लगाकर उन्हें लगातार ब्लैकमेल कर रही थी, चिराग ने इस मुद्दे पर चाचा पशुपति कुमार पारस से सलाह मांगी, लेकिन उन्होने कोई ध्यान नहीं दिया, जबकि ये मुद्दा पार्टी के साथ-साथ परिवार की प्रतिष्ठा से जुड़ा था।

पुलिस के पास जाने की सलाह
चिराग ने अपनी चिट्ठी में लिखा है, कि बड़ा भाई होने के बाद उन्होने प्रिंस राज को पुलिस के पास जाने की सलाह दी थी, ताकि झूठ और सच का पता चल सके, दोषी को सजा मिल सके, चिराग ने कहा कि इतने महत्वपूर्ण मुद्दे पर भी पारस ने कोई सलाह नहीं दी और कन्नी काट गये।

हर बार अनदेखी की
पार्टी में टूट के एक दिन बाद चिराग पासवान ने चिट्ठी के जरिये ये स्पष्ट करने की कोशिश की, कि समस्याओं को सुलझाने की उन्होने भरसक कोशिश की, लेकिन चाचा ने हर बार उनकी अनदेखी की, उन्होने ये भी बताया रामविलास पासवान के जीवित रहते ही पारस के रुख में बदलाव आने लगा था, जब चिराग को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया, तभी से पारस पार्टी के हितों के खिलाफ काम करने लगे थे।

Read Also – तेजस्वी से मिलने राबड़ी आवास पहुंचे लोजपा प्रदेश अध्यक्ष, चुनाव के बाद हो सकता है बड़ा खेल!