vikram

उपेन्द्र शर्मा ने बताया कि अब तक की छानबीन से ये पता चला है कि कुछ साल पहले मिहिर से भी खुशबू की दोस्ती फेसबुक के माध्यम से हुई थी, जिम ट्रेनर से भी फेसबुक से ही खुशबू की दोस्ती हुई थी।

18 सितंबर को सुबह 10 बजे पटना के कदमकुंआ इलाके में जिम ट्रेनर विक्रम राजपूत को दिनदहाड़े गोली मारी गई, पहले तो ये सामान्य खबर लगी, लेकिन उसी दिन जब पटना पुलिस ने एक नामी डॉक्टर राजीव कुमार सिंह और उनकी पत्नी खुशबू सिंह को पूछताछ के लिये बुलाया, तो मामले की हाईप्रोफाइल होने की भनक लगने लगी, शाम 5 बजे तक जिम ट्रेनर तथा डॉक्टर की पत्नी के बीच मोबाइल पर 1100 बार से ज्यादा बार बात होने की पता चली, हालांकि 12 बजे रात को ही उसी दिन डॉक्टर और उसकी पत्नी को छोड़ दिया गया, मामले की जांच के लिये 19 सितंबर को 2 विशेष टीम गठित की गई, इसकी जांच के लिये 22 सितंबर को देर रात पुलिस ने डॉक्टर और उनकी पत्नी समेत सूत्रों को पकड़ा, 23 सितंबर की शाम करीब 6.30 बजे पुलिस ने जब पूरे मामले का खुलासा किया, तो चौंकाने वाली चीजें सामने आई।

एएसपी का प्रेस कांफ्रेंस
पटना एसएसपी उपेन्द्र शर्मा ने प्रेस कांफ्रेंस कर मीडिया को जानकारी देने के बाद 23 सितंबर को करीब 8.30 बजे रात में डॉक्टर दंपत्ति तथा अन्य 4 आरोपियों को बेउर जेल भेज दिया, जिसके साथ ही ये तथ्य भी उभरकर सामने आये कि पटना पुलिस ने खुशबू के इंस्टाग्राम से लेकर फेसबुक तथा व्हाट्सएप्प को खंगाल डाला था, खुशबू ने अपने पुराने दोस्त मिहिर को एक टिकटॉक वीडियो भेजा था, जिसमें उसने कहा था कि अगर तुम हर्ट होते हो, तो डीपी हटा लेते हो, लेकिन हम हर्ट होते हैं, तो बंदा हटा देते हैं, ये सबकुछ देखकर पुलिस हैरान है।

फेसबुक से दोस्ती
उपेन्द्र शर्मा ने बताया कि अब तक की छानबीन से ये पता चला है कि कुछ साल पहले मिहिर से भी खुशबू की दोस्ती फेसबुक के माध्यम से हुई थी, जिम ट्रेनर से भी फेसबुक से ही खुशबू की दोस्ती हुई थी, khusboo (1) छानबीन में पुलिस की दो टीमें लगी थी, एसएसपी ने कहा कि 5 साल पहले मिहिर और खुशबू के बीच गहरे संबंध रहे थे, कांट्रेक्ट किलर और लाइनर मिहिर के पुलिस के सामने दिये बयान से पूरे षडयंत्र का खुलासा हो गया है, खुशबू सिंह का सीधे तौर पर इस मामले में इंवॉल्वमेंट है।

पति भी शामिल
एसएसपी ने कहा कि डॉक्टर राजीव को इसलिये गिरफ्तार किया गया, क्योंकि उन्हें सारी साजिश के बारे में पहले से मालूम था, वैसे पटना पुलिस की मानें, तो डॉक्टर दंपत्ति ने अंतिम तक पुलिस के सामने इस साजिश में खुद के शामिल होने की बात से इंकार करते रहे, लेकिन गिरफ्तार किये गये कांट्रेक्ट किलर अमन, आर्यन और शमशाद ने पुलिस के सामने सारे मामले का खुलासा कर दिया। एसएसपी ने कहा कि इस पूरे मामले में जिम ट्रेनर को गोली मारने के लिये ढाई से तीन लाख में सौदा तय हुआ था, इसके लिये 1.85 लाख अपराधियों को दिये जा चुके थे, तीनों कांट्रेक्ट किलर राजधानी के ही अगमकुंआ थाना क्षेत्र के भागवत नगर में रह रहे थे, 14 हजार महीने के हिसाब से मकान किराये पर ले रखा था।

Read Also – पति को बेहोश कर पत्नी बुलाती थी लड़के, फिर बनाती थी संबंध, एक दिन चारपाई पर