sheohar

शीला ने बबलू के साथ शादी करने की बात कही, ग्रामीणों ने बबलू कुमार से जब पूछा तो उसने भी रजामंदी दे दी, इसके बाद शीला के ससुर (बबलू के पिता) बृजेश सहनी समेत स्वजनों से बात की गई।

बिहार के शिवहर जिले के तरियानी प्रखंड के कुंडल गांव में सोमवार को एक अनोखी शादी देखने को मिली, यहां भरी पंचायत में टार्च की रोशनी में बबलू कुमार ने शीला देवी की मांग में सिंदूर भरा, वहीं अग्नि की बजाय पंचायत को साक्षी मानकर 7 जन्म के लिये साथ निभाने की कसम खाई, वहीं हाथ उठाकर शादी की रजामंदी दी, इस अनोखी शादी को देखने के लिये लोगों की भारी भीड़ जुट गई, आपको बता दें कि शीला देवी रिश्ते में बबलू की चाची है, शादी के बाद अब उनकी पत्नी बन गई है।

7 साल पहले शादी
मालूम हो कि कुंडल निवासी राम विनय सहनी की शादी शीला देवी से 7 साल पहले हुई थी। शादी के 2 साल बाद शीला ने बेटे को जन्म दिया, राम विनय सहनी परदेस में रहकर मजदूरी करती है, वो समय-समय पर गांव आता रहता है, लेकिन उनकी अनुपस्थिति में शीला को भतीजे बबलू से इश्क हो गया, दोनों कभी शिवहर, तो कभी सीतामढी, तो कभी मुजफ्फरपुर घूमने जाते रहते हैं। दोनों कई-कई दिन तक घर से गायब रहने लगा, धीरे-धीरे गांव में इसकी चर्चा होने लगी, इस बीच दोनों फिर गायब हो गये, जब वापस लौटे, तो ग्रामीणों ने दबोच लिया, साथ ही पंचायत बैठी, भरी पंचायत में शीला ने बबलू के साथ प्रेम प्रसंग की जानकारी दी।

दोनों की शादी
शीला ने बबलू के साथ शादी करने की बात कही, ग्रामीणों ने बबलू कुमार से जब पूछा तो उसने भी रजामंदी दे दी, इसके बाद शीला के ससुर (बबलू के पिता) बृजेश सहनी समेत स्वजनों से बात की गई, Marraige 21 तो सभी पक्ष की सहमति के बाद पंचायत ने दोनों की शादी करा दी।

आपत्तिजनक हालत में पकड़े गये थे
कुछ स्थानीय लोगों का कहना है कि दोनों को जब भी मौका मिलता था शारीरिक संबंध बनाते थे, चूंकि शीला के पति परदेस में रहते हैं, तो बबलू इसका फायदा उठाता था, दोनों एक-दूसरे को प्यार करने लगे थे, कई बार घर के लोगों और ग्रामीणों ने दोनों को आपत्तिजनक हालत में देख लिया था, पूरे मोहल्ले में दोनों के प्यार के चर्चे थे, इसलिये घर वालों ने भी रजामंदी दे दी।

Read Also – प्रेमी के साथ आपत्तिजनक स्थिति में पकड़ा, तो पत्नी ने पति को लगा दिया ठिकाने, फिर रची साजिश