Home देश बिहार डिप्टी CM पर सस्पेंस बरकरार, ट्विटर पर छलका ‘मोदी’ का दर्द, ये...

डिप्टी CM पर सस्पेंस बरकरार, ट्विटर पर छलका ‘मोदी’ का दर्द, ये दो नाम रेस में सबसे आगे

0
115

बिहार (Bihar) में नई सरकार के गठन की तैयारियां हो चुकी है और सोमवार को शपथ ग्रहण समारोह (Oath Ceremony) होना है. जिसके लिए सरकार बनने की कवायद जारी है. जहां एक बार फिर से नीतीश कुमार (Nitish Kumar) को बिहार के मुख्यमंत्री पद की कुर्सी मिली है तो वहीं दूसरी तरफ डिप्टी सीएम पद के लिए सस्पेंस बरकरार है. जी हां, बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) का इस बार डिप्टी सीएम पद से पत्ता कट सकता है और अटकलों के बीच सुशील मोदी का ट्विटर पर दर्द छलका है जिसमें उन्होंने अपने मन की व्यथा जाहिर की है. वहीं बड़ी खबर ये भी है कि, डिप्टी सीएम की रेस में तारकिशोर और रेणु देवी सबसे आगे चल रहे हैं. पार्टी इन दोनों को राज्य का उपमुख्यमंत्री बना सकती है.

दिवाली के अगले दिन गहमागहमी
बिहार विधानसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद से ही नई सरकार के गठन पर मंथन चल रहा था और दिवाली के अगले दिन बिहार में काफी गहमागहमी का माहौल रहा. बीजेपी में नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक हुई जिसमें तारकिशोर प्रसाद को बीजेपी विधायक दल का नेता चुना गया है और उन्हें एनडीए का उपनेता बनाया गया है. जबकि रेणु देवी बीजेपी विधायक दल की उपनेता चुनी गई हैं. इस पर सुशील मोदी ने ट्विटर पर उन्हें बधाई देते हुए लिखा- ‘तारकिशोरजी को भाजपा विधानमंडल का नेता सर्वसम्मति से चुने जाने पर कोटिश बधाई दी है.’

कार्यकर्ता का पद नहीं छिन सकता
रविवार को सरकार मंथन और बैठकों के बीच सुशील मोदी ने कई ट्वीट किए. दूसरे ट्वीट में उन्होंने बताया कि कोई भी उनके कार्यकर्ता का पद नहीं छीन सकता. सुशील मोदी ने लिखा- ‘बीजेपी एवं संघ परिवार ने मुझे 40 वर्षों के राजनीतिक जीवन में इतना दिया कि शायद किसी दूसरे को नहीं मिला होगा.sushil modi bihar आगे भी जो जिम्मेवारी मिलेगी उसका निर्वहन करूंगा. कार्यकर्ता का पद तो कोई छीन नहीं सकता.’ जबकि इसके अगले ट्वीट में सुशील मोदी ने लिखा- ‘नोनिया समाज से आने वाली बेतिया से चौथी बार विधायक श्रीमति रेणु देवी के भाजपा विधान मंडल दल के उप नेता सर्वसम्मति से चुने जाने पर हार्दिक बधाई!’

सोमवार को होगा राजतिलक
बता दें, रविवार को हुई बैठक में सर्वसम्मति के साथ नीतीश कुमार को एक बार फिर से एनडीए विधायक दल का नेता चुना गया है और फिर से उन्हें बिहार की कमान सौंपी जा रही है. नीतीश कुमार का राजतिलक सोमवार को शाम 4.30 बजे होगा और वहीं वह 7वीं बार सीएम पद की शपथ लेंगे. वैसे एनडीए की बैठक के बाद ये भी खबर आई है कि, नीतीश कुमार इस बार सीएम बनने से मना कर रहे थे और वो बीजेपी से सीएम चाहते थे.CM Nitish kumar क्योंकि इस बार के चुनाव में बीजेपी ही सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है. पर नेताओं के समझाने के बाद नीतीश कुमार सीएम बनने को तैयार हैं वैसे याद दिला दें, चुनाव प्रचार के आखिरी दिन नीतीश कुमार ने इमोशनल कार्ड खेलते हुए कहा था कि, ये उनका आखिरी चुनाव है.

ये भी पढ़ेंः- नीतीश कुमार पहले भी राजनीति छोड़ ये काम करने का बना चुके थे मन, लेकिन फिर ऐसे लौटे!