pashupati 1

पशुपति कुमार पारस ने कहा कि चिराग पासवान के रहने से मुझे कोई परेशानी नहीं है, हमारी पार्टी पहले की तरह रहेगी, हम एनडीए से जुड़े रहेंगे।

लोक जनशक्ति पार्टी में बड़ी टूट होने के बाद पशुपति कुमार पारस ने मीडिया के सामने चुप्पी तोड़ी है, उन्होने कहा कि हम तीन भाइयों में बहुत बनती थी, लेकिन रामविलास के निधन के बाद मैं अकेला महसूस कर रहा हूं, उन्होने कहा कि पार्टी तोड़ी नहीं बल्कि बचाई है।

चिराग से परेशान नहीं
पशुपति कुमार पारस ने कहा कि चिराग पासवान के रहने से मुझे कोई परेशानी नहीं है, हमारी पार्टी पहले की तरह रहेगी, हम एनडीए से जुड़े रहेंगे, पारस ने नीतीश की तारीफ में कसीदे भी पढे, उन्होने कहा कि मैं नीतीश कुमार को अच्छा लीडर मानता हूं, वो विकास पुरुष हैं।

असामाजिक तत्व घुस गये थे
रामविलास पासवान के छोटे भाई ने कहा कि पार्टी में कुछ असामाजिक तत्व घुस आये, जिन्होने बिहार में गठबंधन तोड़ दिया, चिराग पासवान से मुझे कोई शिकायत नहीं है, वो जिस तरह से पार्टी चला रहे थे, उससे सब नाराज थे।

पांचों सांसदों ने छोड़ा चिराग का साथ
आपको बता दें कि बिहार में चिराग की लोजपा में बड़ी बगावत हो गई है, लोजपा के पांच सांसदों ने पशुपति कुमार पारस को अपना नेता चुना है, पशुपति रामविलास पासवान के छोटे भाई हैं, और हाजीपुर सीट से सांसद हैं। रामविलास के निधन के बाद से चिराग पार्टी संभाल रहे थे, लेकिन सांसदों ने उनसे किनारा कर लिया है और नया नेता चुन लिया है।

Read Also – मोदी जी अभी भी दिल में हैं या निकाल दिये, चिराग पासवान पर अलका का ट्वीट वायरल