Wednesday, May 12, 2021

AK-47 वाला IPS अफसर, थाने की जीप चुरा कर आये थे सुर्खियों में, ये हैं बिहार के सिंघम!

मनु महाराज जब पटना के एसपी थे, तो वो एक रात गश्त के दौरान ऑन ड्यूटी पुलिस वाले तथा ड्राइवर को सोता देख थाने से पुलिस की जीप लेकर फरार हो गये।

बिहार विधानसभा चुनाव के बीच मुंगेर में मां दुर्गा मूर्ति विसर्जन के दौरान पुलिस द्वारा लाठीचार्ज और फायरिंग की घटना में एक शख्स का मौत हो चुका है, ये मामला तूल पकड़ रहा है, गुस्साये लोगों ने जिले की तीन पुलिस थानों पर आगजनी और तोड़-फोड़ की, माहौल को कंट्रोल करने की जिम्मेदारी डीआईजी मनु महाराज को सौंपी गई है, जिसके बाद मनु खुद स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिये सड़क पर उतर चुके हैं, मनु महाराज को लोग बिहार का सिंघम कहते हैं, आइये उनके बारे में जानते हैं कुछ बातें।

हिमाचल के रहने वाले
मनु महाराज मूल रुप से हिमाचल प्रदेश के रहने वाले हैं, उन्होने अपनी शुरुआती पढाई शिमला से की है, इसके बाद आईआईटी रुडकी से बीटेक करने के बाद यूपीएससी परीक्षा की तैयारी में जुट गये, उन्होने इस कठिन परीक्षा में भी सफलता हासिल की, साल 2006 में बिहार कैडर के आईपीएस चुने गये।

आईएएस के लिये चयन
2006 में जब मनु महाराज ने यूपीएससी परीक्षा पास की थी, तो उनका रैंक अच्छा था, उन्हें आसानी से आईएएस पद मिल जाता, लेकिन उन्होने आईपीएस को चुना,  दरअसल मनु महाराज हमेशा से एक आईपीएस अधिकारी बनना चाहते थे। वो पटना, दरभंगा जैसे राज्य के कई बड़े जिलों के एसपी रहे, वो जहां भी रहे अपनी कार्यशैली से लोगों का दिल जीतते रहे, अपराधियों के बीच खौफ का पर्याय बने रहे, मनु महाराज किसी भी बड़े ऑपरेशन को खुद ही लीड करते हैं और एके-47 लेकर खुद ही मौके पर पहुंच जाते हैं।

पुलिस जीप चुरा ली
मनु महाराज जब पटना के एसपी थे, तो वो एक रात गश्त के दौरान ऑन ड्यूटी पुलिस वाले तथा ड्राइवर को सोता देख थाने से पुलिस की जीप लेकर फरार हो गये, पूरी रात उस जीप से पटना में घूमते रहे, लेकिन पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगी, अगले दिन उन्होने ड्यूटी पर तैनात पुलिस, वालों को लापरवाही के आरोप में सस्पेंड कर दिया था।

Read Also – बिहार चुनाव- छोटे दल भी करेंगे बड़ा खेल, जानिये कैसे बिगड़ सकता है हार जीत का समीकरण!

Related Articles

- Advertisement -spot_img

Latest Articles