Home देश बिहार बिहार की इस बेटी ने खाई मां-बाप के सामने शादी ना करने...

बिहार की इस बेटी ने खाई मां-बाप के सामने शादी ना करने की कसम, IAS बनकर ही लिया दम!

0
1446
abhilasha 4

अभिलाषा का सपना था कि वो एक अच्छे सरकारी पद पर काम करें, इसके लिये उन्होने भरपूर पढाई की, उन्होने यूपीएससी की परीक्षा देकर आईएएस अधिकारी बनने की ठानी।

बिहार की बेटी अभिलाषा ने जब सिविल सेवा परीक्षा में 18वां स्थान हासिल किया, तो उनके घर बधाई का तांता लग गया, लेकिन अभिलाषा को यहां तक पहुंचने के लिये कड़ी मेहनत के साथ-साथ समाज के ताने भी सुनने को मिले, अभिलाषा ऐसे इलाके से है, जहां लड़कियों की एक समय सीमा में शादी कर दी जाती है, इसका असर उनके भी परिवार पर पड़ा, उनसे भी शादी के लिये कहा गया, लेकिन उन्होने अपने माता-पिता को विश्वास दिलाया कि वो जल्द ही अपना सपना पूरा करेंगी, जिसके बाद धूम-धाम से शादी करेंगी, अभिलाषा की ये इच्छा आखिरकार पूरी हुई।

नौकरी का सपना
अभिलाषा का सपना था कि वो एक अच्छे सरकारी पद पर काम करें, इसके लिये उन्होने भरपूर पढाई की, उन्होने यूपीएससी की परीक्षा देकर आईएएस अधिकारी बनने की ठानी, 2014 में जब अभिलाषा ने पहली बार यूपीएससी की परीक्षा दी, तो पीटी तक क्लियर नहीं कर पाई थी।

दो साल तैयारी
परिवार तथा समाज को जवाब देने के लिये उन्हें जल्द से जल्द अच्छा परिणाम देना था, पहले प्रयास में असफल होने के बाद इससे सीख लेते हुए उन्होने 2 साल तक कोशिश नहीं की, सिर्फ तैयारी करती रही, इसके बाद 2016 में उन्होने किस्मत आजमाई, जिसमें उनको 308वीं रैंक मिली, जिससे उनका चयन आईआरएस सेवा के लिये हुआ, लेकिन अभिलाषा इतने से संतुष्ट नहीं थी, उनका सपना ऊंची पोस्ट पाने का था, उन्होने फिर से कोशिश की, तथा 2017 के अपने तीसरे प्रयास में 18वां रैंक हासिल किया।

पढाई में होशियार
अभिलाषा बचपन से ही पढाई में होशियार थी, इसे लेकर परिवार वाले भी उन्हें सपोर्ट करते थे, लेकिन एक समय में जब अभिलाषा को कामयाबी हासिल करने में देर लगी, तो परिजनों ने शादी के लिये कहना शुरु कर दिया, अभिलाषा ने घर वालों को कुछ साल और शादी टालने के लिये मनाया, अभिलाषा ने दसवीं तथा बारहवीं परीक्षा में टॉप किया था। इसके बाद इंजीनियरिंग की तैयारी की, महाराष्ट्र के ए एस पाटिल कॉलेज से बीटेक किया, फिर नौकरी करने लगी, उनके संघर्ष का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उन्होने हमेशा परीक्षा की तैयारी करते हुए नौकरी की।

Read Also – लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला की बेटी बनी IAS, पहली बार में ही मिली सफलता