Baitul

जानकारी के अनुसार लोकायुक्त ने टीचर पंकज श्रीवास्तव, उसकी पत्नी और पिता के खिलाफ करप्शन अधिनियम की विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया है।

एमपी के बैतूल से एक सन्न कर देने वाला मामला सामने आया है, जहां लोकायुक्त की टीम ने एक सरकारी प्राइमरी टीचर के घर छापेमारी की, तो छापेमारी करने वाली टीम भी दंग रह गई, टीम की छानबीन में सरकारी प्राइमरी स्कूल टीचर करोड़पति निकला, दरअसल आय से अधिक संपत्ति की शिकायत होने पर मंगलवार को टीचर के घर पर लोकायुक्त टीम ने छापा मारा, जहां टीचर के पास 5 करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति होने के दस्तावेज मिले, साथ ही एक लाख रुपये नकद बैंक खाते तथा लॉकर की जानकारी मिली है।

छापे के बाद लोकायुक्त टीम भी दंग
जानकारी के अनुसार लोकायुक्त ने टीचर पंकज श्रीवास्तव, उसकी पत्नी और पिता के खिलाफ करप्शन अधिनियम की विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया है, दरअसल बैतूल के बगडोना में आलीशान मकान में रहने वाले पंकज रेंगाढाना गांव में सरकारी प्राइमरी स्कूल टीचर है, इनकी नियुक्ति साल 1998 में हुई थी।

घर पर छापेमारी
नियुक्ति के समय उनकी सैलरी 2 हजार रुपये थे, फिलहाल परमानेंट टीचर होने के बाद 48 हजार रुपये सैलरी प्राप्त कर रहे हैं, पूरी नौकरी के कार्यकाल में उन्होने तनख्वाह से 38 लाख रुपये कमाये हैं, हाल ही में पंकज श्रीवास्तव के खिलाफ लोकायुक्त में शिकायत की गई थी, कि इनके पास आय से ज्यादा संपत्ति है। मिले दस्तावेजों में उनकी संपत्ति करीब 5 करोड़ रुपये आंकी गई है, लोकायुक्त ने पंकज, उनके पिता और पत्नी के किलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है, लोकायुक्त टीम का कहना है कि तीनों को जमानत पर रिहा किया गया है, मामले की जांच शुरु हो गई है।

25 संपत्ति
लोकायुक्त टीआई सलिल शर्मा ने कहा कि हमें शिकायत मिली थी, कि पंकज श्रीवास्तव नाम के टीचर के पास आय से अधिक संपत्ति है, जिसका हमने सत्यापन किया, जब हमने उनके घर की सर्चिंग की, तो इस दौरान 25 संपत्तियों के दस्तावेज मिले हैं, 1 लाख रुपये नकद बैंक और लॉकर की जानकारी मिली है।

Read Also – बुआ के बेटे और पत्नी को आपत्तिजनक हालत में पकड़ा, फिर रची गई खौफनाक साजिश!